breaking news New

हम किसान अन्नदाता है, आतंकवादी नहीं ; मोदी जी हमारा अपमान करना बंद करो - अधिवक्ता शत्रुहन साहू

हम किसान अन्नदाता है, आतंकवादी नहीं ; मोदी जी हमारा अपमान करना बंद करो  - अधिवक्ता शत्रुहन साहू

धमतरी, 6 फरवरी। केंद्र कि मोदी सरकार के द्वारा कारपोरेट घराने के लाभ के लिए लाई गई तीन दमनकारी जनविरोधी कृषि कानून की वापसी एवं समर्थन मूल्य की गारंटी की मांग को लेकर विगत 73 दिन से देशभर के 500 किसान संगठनों के लाखों किसान दिल्ली के बॉर्डर पर आंदोलनरत है, जिसे सत्ता के अहंकार में डूबे केंद्र की मोदी सरकार बदनाम करने की नियत से तरह तरह के षड्यंत्र कर कर रही है। आंदोलनरत किसानों को किलेबंदी तारबंदी घेराबंदी इंटरनेट बंदी कर अन्नदाताओं की आवाज को कुचलने का कुटिल षड्यंत्र किया है जिसके विरोध में संयुक्त राष्ट्रीय किसान मोर्चा दिल्ली के आह्वान पर 6 फ़रवरी 2021 को खेती बचाओ आंदोलन के तहत छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ से संबद्ध राष्ट्रीय किसान मोर्चा एवं राष्ट्रीय मतदाता जागृति मंच के संयुक्त तत्वाधान में धमतरी जिला के अर्जुनी मोड  रिलायंस पेट्रोल पंप के पास एवं कुरूद में भी राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम किया गया। 


इस अवसर पर खेती बचाओ यात्रा के विधिक सलाहकार अधिवक्ता शत्रुहन साहू संजय चंद्राकर टिकेश्वर साहू राम विशाल साहू असफाक अली हाशमी मनोज भतपरी भुनेश्वर साहू दिग्विजय साहू ने तीनों दमनकारी जन विरोधी कृषि बिल एवं किसान नेताओं पर दर्ज झूठे केसो की वापसी एवं समर्थन मूल्य की गारंटी  की मांग को दोहराते हुए कहा कि हम किसान अन्नदाता है, आतंकवादी नहीं; हम अपने खून और पसीने से धरती को सींचकर अन्न उपजाते हैं तब पूरे दुनिया के प्राणी अपना पेट भरता है हमें बदनाम करना बंद करो सरकार की हुंकार भर आगे कहा कि दिल्ली की सीमाओं पर शांतिपूर्ण तरीके  से आंदोलनरत किसानों को बदनाम करने के लिए सत्ता के नशा में चूर केंद्र की मोदी सरकार षड़यंत्र पूर्वक असामाजिक तत्वों, दिल्ली पुलिस और कुछ राष्ट्रीय गोदी मीडिया की मदद से आंदोलन को तोड़ने का प्रयास किया जिसमें फेल हुए तो अब आंदोलन को कुचलने किलेबंदी तारबंदी घेरेबंदी इंटरनेट बंदी कर जनता के संवैधानिक व मौलिक अधिकारों का हनन कर रही है सरकार का यह कृत्य बेहद ही नंदिनीय व शर्मनाक एवं संविधान व जन विरोधी है सनत निर्मलकर प्रफुल साहू निशांत भट्ट सतवंत महिलांग भिखारी राम साहू रसूल खान बिसौहा साहू सत्यम पुरी गोस्वामी भीखम साहू गोपाल साहू कृष्णकांत नीरज ने कहा कि घमंड छोड़ कर केंद्र की भाजपा सरकार तीनों कृषि बिल को वापस ले समर्थन मूल्य की गारंटी का कानून देकर इस आंदोलन में शहीद हुए किसानों को सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करें छन्नू साहू महेश रावटे, नोखे लाल प्रभु दयाल साहू आनंद साहू ने कहा कि कृषि बिल पर केंद्र की भाजपा सरकार लोगों को गुमराह कर रही है यह कृषि कानून न केवल किसान अपितु जन और देश विरोधी कानून है जिसे देश हित में वापस लेना होगा।

 इस अवसर पर अजय टंडन मनीष टंडन त्रिलोकी मानू ध्रुव कन्हैया साहू पुनीत साहू हिरासिंग शमशुद्दीन अब्दुल हकीम  सहित बड़ी संख्या में किसान शामिल हुए।