breaking news New

सख्त कदम वायरस के प्रसार पर break...... नागरिकों को ग्रीन पास देने पर विचार

सख्त कदम वायरस के प्रसार पर break...... नागरिकों को ग्रीन पास देने पर विचार

बेंगलुरू। कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के. सुधाकर ने शनिवार को कहा कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच राज्य सरकार पूर्ण टीकाकरण वाले नागरिकों की पहचान के लिए ग्रीन पास जारी करने पर विचार कर रही है।

उन्होंने कहा कि सरकार टेली-ट्राइजिंग (आपात काल के समय) के लिए पढ़ाई कर रहे 10,000 सर्जनों और नर्सिंग छात्रों की भर्ती करने की योजना भी बना रही है। उन्होंने कहा, “कोविड के मामलों की बढ़ती संख्या के बावजूद लॉकडाउन लागू करने का कोई इरादा सरकार का नहीं है।

उन्होंने कहा, “राज्य में लॉकडाउन उस वक्त लागू किया गया था, जब टीके नहीं थे और कोविड के कहर के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। अब भारत के पास टीके हैं और देश कोरोना की दो लहरों का अनुभव कर चुका है।”

श्री सुधाकर ने कहा कि भारत में अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के आगमन को रोकना असंभव है, लेकिन लोगों की व्यावसायिक गतिविधियों को बाधित किए बिना, सख्त कदम उठाकर वायरस के प्रसार को रोका जा सकता है।

उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने अंतरराष्ट्रीय आगमन के लिए सात-दिवसीय होम क्वारंटीन अनिवार्य कर दिया है। इस बीच राजस्व मंत्री आर अशोक कोरोना पॉजिटिव पाए हैं, उन्हें उपचार अस्पताल में भर्ती कराया गया है।