breaking news New

परिजनों द्वारा सिद्धि विनायक हॉस्पिटल मगरलोड पर लगाया गया लापरवाही का आरोप

परिजनों द्वारा सिद्धि विनायक हॉस्पिटल मगरलोड पर लगाया गया लापरवाही का आरोप

मगरलोड, 2 जनवरी। नगर पंचायत मगरलोड में आरोव फ्यूल्स  पेट्रोल पम्प के ठीक सामने श्री सिद्धिविनायक हॉस्पिटल का शुभारंभ कुछ ही महीनों पहले हुआ था।जिसके शुभारंभ कार्यक्रम में सिहावा विधायक डॉक्टर लक्ष्मी ध्रुव ने शिरकत किया गया था।

क्या कहते है पीड़ित मरीज के परिजन

वही पीड़ित मरीजों की परिजनों की माने तो जिला चिकित्सा अधिकारी,जिलाधीश धमतरी से लिखित शिकायत करते हुए कहा है कि  श्री सिद्धि विनायक   हॉस्पिटल में किसी भी प्रकार की कोई मूलभूत सुधार नहीं है। मरीजों को लैट्रिन बाथरूम की सुविधा ना होने के बावजूद भी मरीजों को भर्ती कर लिया जाता है। मरीजों को भर्ती के बाद दो-तीन दिन रखने का शुल्क  30,000रुपया तक लिया जाता है।जिसके बाद भी ईलाज का बिल मरीजों को दिया भी नहीं जाता है।जो अपने आप मे बड़ा सवाल बना हुआ है।जिससे के मरीजों को काफी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है।

आगे मरीज के परिजनों के परिजनों ने आगे आरोप लगाते हुए कहा की,सुबह 11 से शाम 4 बजे तक नयापारा राजिम में स्थित एक अन्य हॉस्पिटल में अपना सेवा देते हैं।सिद्धिविनायक हॉस्पिटल में जूनियर झोलाछाप डॉक्टरों द्वारा मरीजों का ईलाज किया जाता है और दवाई देते हैं। जिसे कारण कभी भी आकस्मिक मरीजों के साथ दुर्घटना या जान जाने की पूर्णता सम्भावना बना रहता है।इससे साफ - साफ पता चलता है,कि है श्री सिद्धि विनायक हॉस्पिटल शासन के नियमों का धज्जियां उड़ाई जा रही है।

क्या कहते है श्री सिद्धिविनायक के डॉक्टर

इस सम्बंध में श्री सिद्धिविनायक हॉस्पिटल के डॉक्टर देवेश डहेरिया से मोबाईल फोन से सम्पर्क कर पक्ष जानने की कोशिश किया गया तो,डॉक्टर द्वारा कहा गया की,उनके हॉस्पिटल के ऊपर लगाया गया आरोप बेबुनियाद है और ऐसा आरोप लगाकर उनके हॉस्पिटल को बदनाम करने का बात कही गयी।

क्या कहते ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी

इस हॉस्पिटल के सम्बंध में मोबाईल फोन से सम्पर्क किया,तो खबर लिखने तक ऑफिस से बाहर होने की बात,कहा गया आगे कहा की इसकी जानकारी सोमवार को देने की बात कही गयी।