breaking news New

दुर्ग सेना भर्ती रैली तीन मार्च से, हर दिन 6 हजार प्रतिभागी जुटने की संभावना

दुर्ग  सेना भर्ती रैली तीन मार्च से, हर दिन 6 हजार प्रतिभागी जुटने की संभावना


प्रतिभागियों को किसी तरह की दिक्कत न हो कलेक्टर ने दिये निर्देश

दुर्ग, 9 फरवरी। भारतीय थल सेना भर्ती रैली का आयोजन दुर्ग शहर के रविशंकर स्टेडियम में 3 मार्च से होगा। भर्ती 12 मार्च तक चलेगी। भर्ती के दौरान प्रदेश भर से आने वाले प्रतिभागियों को किसी तरह की दिक्कत न हो, इस संबंध में तैयारियाँ सुनिश्चित करने के निर्देश कलेक्टर डाॅ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने दिये हैं। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि भर्ती रैली में प्रदेश भर से हर दिन छह हजार युवाओं के जुटने की संभावना है। भर्ती के पहले दिन ये शहर में आएंगे। इन्हें रहने-खाने जैसी बुनियादी सुविधाएं मिल पाएं, इसके लिए इंतजाम कर लें। उन्होंने कहा कि चूँकि ये बहुत बड़ी मुहिम है अतएव इसके लिए सामाजिक संगठनों से भी भागीदारी का आग्रह करें ताकि दुर्ग में आने वाले सभी प्रतिभागियों को बेसिक सुविधा उपलब्ध कराये जाने में मदद मिल सके। कलेक्टर ने कहा कि शहर में बस स्टैंड सहित महत्वपूर्ण जगहों पर फ्लैक्स लगाएं जाएं ताकि युवाओं को रूकने के संबंध में एवं भर्ती रैली के संबंध में जरूरी मार्गदर्शन मिल सकें। यह फ्लैक्स हर जिला मुख्यालय के बस स्टैंड सहित प्रमुख स्थलों में लगाए जाएंगे ताकि दुर्ग आने वाले युवाओं को अधिक भटकना न पड़े। इसके अलावा बसों आदि में भी स्टीकर लगाए जाएंगे। कलेक्टर ने कहा कि युवा सोशल मीडिया में व्हाटसएप के माध्यम से काफी अपडेट रहते हैं। जरूरी सुविधाओं संबंधित मैसेजेस व्हाटसएप के माध्यम से अधिकाधिक सर्कुलेट किये जाएं ताकि कंट्रोल रूम और सुविधा केंद्र का नंबर अधिकाधिक प्रतिभागियों तक पहुंच सके। 

इस दौरान भिलाई नगर निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी, अपर कलेक्टर प्रकाश सर्वे, बीबी पंचभाई, जिला पंचायत सीईओ सच्चिदानंद आलोक, सहायक कलेक्टर जितेंद्र यादव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। 

जिला अस्पताल में आक्सीजन पाइपलाइन का कार्य पूरा, जल्द होगा शुभारंभ- कलेक्टर ने जिला अस्पताल में आक्सीजन पाइपलाइन एवं एसएनसीयू की प्रगति के बारे में भी पूछा। अधिकारियों ने बताया कि इनमें काम लगभग समाप्त हो चुका है। कलेक्टर ने कहा कि शीघ्र ही इसका शुभारंभ किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आक्सीजन पाइपलाइन के लिए पावर आडिट जैसी प्रक्रिया पूरी करा लें ताकि सुरक्षा संबंधी सभी बातों पर निश्चिंतता रहे। उन्होंने एमसीएच बिल्डिंग में एयर डक्ट लगाने के निर्देश भी दिये।

मार्निंग विजिट की समीक्षा, वार्ड कार्यालयों में आई शिकायतों के निदान की गुणवत्ता भी नागरिकों से मिलकर जानें- कलेक्टर ने नगरीय निकाय के अधिकारियों से मार्निंग विजिट के फीडबैक जानें। अधिकारियों ने बताया कि सुबह-सुबह वे मानिटरिंग करते हैं और साथ ही अधीनस्थ अधिकारियों को भी इस संबंध में निर्देशित किया है। कलेक्टर ने कहा कि वार्ड कार्यालय में शिकायतें आती हैं जिनका निराकरण नगरीय निकाय के अमले द्वारा किया जाता है। निराकरण की गुणवत्ता किस तरह से है और नागरिक की संतुष्टि का स्तर कैसा है यह भी जानना जरूरी है इसके लिए जरूरी है कि आयुक्त एवं सीएमओ स्वयं वार्डों में उन नागरिकों से मिलें, जिनकी शिकायतें हल की जा चुकी हैं। कलेक्टर ने मोबाइल मेडिकल यूनिट की जानकारी भी ली। भिलाई निगम आयुक्त श्री ऋतुराज रघुवंशी ने बताया कि ओपीडी में हर दिन 70 से अधिक केस आ रहे हैं।