breaking news New

किसानों से किए वादे पर भूपेश सरकार ने ईमानदारी से नहीं किया काम : भाजपा

किसानों से किए वादे पर भूपेश सरकार ने ईमानदारी से नहीं किया काम  : भाजपा

त्रिलोचन चक्रवर्ती 

बैकुंठपुर/चिरमिरी। भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्यामबिहारी जायसवाल ने कहा है कि प्रदेश सरकार ने विधानसभा चुनाव के दौरान किए गए वादों को पूरा करने का झूठा प्रचार कर रही है, जबकि ज़मीनी हक़ीक़त यह है कि कांग्रेस की इस प्रदेश सरकार ने अपने अब तक के पूरे कार्यकाल में किसी भी वादे पर पूरी ईमानदारी के साथ काम नहीं किया और अपना पूरा वक़्त सियासी नौटंकियों, केंद्र सरकार के ख़िलाफ़ अनर्गल प्रलाप करने, केंद्र की योजनाओं के सीधे लाभ से प्रदेश की जनता को वंचित रखने का षड्यंत्र रचने और अपने टूलकिटिया एजेंडे पर काम करने में ही जाया किया।

भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष जायसवाल ने कहा कि प्रदेश सरकार ने हर किसानों का हर कर्ज़ पूरा माफ़ करने का ढिंढोरा तो खूब पीटा, लेकिन आधा-अधूरा कर्ज़ माफ़ करके किसानों के साथ छल किया। धान ख़रीदी और उसके एकमुश्त पूरे भुगतान को लेकर प्रदेश सरकार के नित-नए पाखंड और तुग़लक़ी फ़रमानों पर सवाल उठाते हुए  जायसवाल ने कहा कि प्रदेश का किसान आज ख़ुद को ठगा हुआ

महसूस कर रहा है। प्रदेश में आदिवासी किसानों पर गोलियाँ बरसाने वाली प्रदेश सरकार ने अपनी कुनीतियों के कारण पिछले तीन साल में लगभग 550 किसानों को आत्महत्या के लिए मज़बूर कर दिया।

प्रदेश के किसानों की फ़िक़्र करने के बजाय प्रदेश का ख़ज़ाना अपनी निजी सम्पदा मानकर मुख्यमंत्री बघेल उत्तरप्रदेश में वोटों की फसल काटने के लिए लुटा रहे हैं। श्री जायसवाल ने इस बारे में प्रदेश सरकार और कांग्रेस नेताओं से सवाल पूछे हैं और प्रदेश को उनका ज़वाब देने को कहा है :

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ के किसानों से हर खेत के पास फूड प्रोसेसिंग युनिट लगाने, वहां किसानों का धान ख़रीदने और इन युनिट्स में किसानों के बेटों को रोज़गार देने का वादा किया था। अब कांग्रेस बताए कि प्रदेश में कितने खेतों के पास फूड प्रोसेसिंग युनिट स्थापित हुए? कितने किसानों ने अब तक वहाँ अपनी फसल बेची? कितने किसानों के बेटों को वहाँ रोज़गार मिला?

 राहुल गांधी ने यह भी कहा था कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार आते ही सरकारी समर्थन मूल्य पर किसानों का पूरा धान ख़रीदा जाएगा और प्रति एकड़ 15 क्विंटल की लिमिट ख़त्म कर दी जाएगी। प्रदेश सरकार और कांग्रेस बताए कि यह लिमिट अब तक क्यों ख़त्म नहीं की गई है?

 प्रदेश में कांग्रेस ने केंद्र सरकार के समर्थन मूल्य के साथ 2500 रुपए प्रति क्विंटल धान ख़रीदने का वादा किया था, लेकिन उसके बाद केंद्र सरकार ने धान का समर्थन मूल्य बढ़ाया है तो उस अंतर की राशि के सीधे लाभ से कांग्रेस सरकार प्रदेश के किसानों को क्यों वंचित रख रही है? केंद्र सरकार के मौज़ूदा समर्थन मूल्य और प्रदेश सरकार की घोषणा के दृष्टिगत किसानों को इस वर्ष लगभग 2900 रुपए प्रति क्विंटल की दर से धान का भुगतान करने की घोषणा प्रदेश सरकार कब करेगी?

 भाजपा शासनकाल के दो वर्षों के बकाया बोनस देने और उसे आगे हर वर्ष जारी रखने का वादा राहुल गाांधी छत्तीसगढ़ में घूम-घूमकर करते रहे। प्रदेश सरकार बताए कि अपने इस वादे पर उसने अब तक अमल क्यों नहीं किया? किसानों के नाम पर घड़ियाली आँसू बहाने वाली कांग्रेस और उसकी प्रदेश सरकार सत्ता में आते ही इस मुद्दे पर मुँह में दही जमाकर क्यों बैठ गई है?

क्या प्रदेश कांग्रेस के नेता और प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री अपने ही केंद्रीय नेता राहुल गांधी के वादे को भी अहमियत नहीं देते? क्या प्रदेश कांग्रेस और प्रदेश सरकार अपनी कोई नई लाइन खींचकर अपने केंद्रीय नेतृत्व को बौना सााबित करने की दिशा में काम कर रही है?