शबे बरात के अवसर पर प्रदेश की समस्त कब्रस्तान कमेटीयों से कब्रस्तान में लाईट एवं फूल की व्यवस्था किए जाने हेतु राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष की अपील

शबे बरात के अवसर पर प्रदेश की समस्त कब्रस्तान कमेटीयों से कब्रस्तान में लाईट एवं फूल की व्यवस्था किए जाने हेतु राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष की अपील

रायपुर, 09 अप्रैल | छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी ने बताया है कि वर्तमान में कोविड 19 (कोरोना वायरस) के संक्रमण की रोकथाम के लिए शासन-प्रशासन द्वारा लॉकडाऊन किया गया है। जिसके अंतर्गत राज्य शासन के दिशा निर्देशों के परिपालन में छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड द्वारा विभिन्न आदेश, निर्देश, अपील जारी की गई है। जिसमें मस्जिद, दरगाह, कब्रस्तान आदि स्थानों में भीड़ न लगाने तथा सभी फर्ज नमाज एवं जुमा की नमाज को अपने-अपने घरों में अदा करने कहा गया है। इसका पालन समस्त मस्जिद, दरगाह, कब्रस्तान, मदरसा कमेटी के द्वारा पालन भी किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी द्वारा अपील की गई है कि 9 अप्रैल को शबे बारात (बड़ी रात) है। इस दिन मगरिब के बाद जो 6 रकात नफिल नमाजें पढ़ी जाती है उसे अपने-अपने घरों में अदा करने एवं कोविड-19 (कोरोना वायरस) के संक्रमण के बचने के लिए देश और प्रदेश के लिए दुआ करें। बोर्ड द्वारा दरगाहों में भीड़ न लगाने के लिए आदेश, निर्देश का पालन करने की अपील गई है। शबे बरात की रात को मुस्लिम समाज के लोग बड़ी तादाद में कब्रस्तानों में अपने मरहूमीन की कब्रों में इसाले सवाब और दरगाहों की जि़यारत के लिए जाते है।

छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड द्वारा इस संबंध में छत्तीसगढ़ प्रदेश के समस्त जिलों में स्थित समस्त कब्रस्तानों की मुतवल्ली कमेटी, प्रबंधन कमेटी, तदर्थ कमेटी, प्रशासक एवं पदाधिकारी से यह गुजारिश की जाती है कि आप शबे बारात की रात 9 अप्रैल को समस्त कब्रस्तानों में लाईट एवं समस्त कब्रों में फूल की व्यवस्था की जाए ताकि कोई भी कब्र इस विशेष दिन में सूनी न रहे। चूंकि कोविड-19 (कोरोना वायरस) के संक्रमण की रोकथाम के लिए आम लोगों को कब्रस्तान में आने से रोका गया है।