breaking news New

धान खरीदी केंद्र भोथिया में तय मात्रा से अधिक धान की तौल, जानकारी पूछने पर खरीदी प्रभारी ने दी धमकी

धान खरीदी केंद्र भोथिया में तय मात्रा से अधिक धान की तौल, जानकारी पूछने पर खरीदी प्रभारी ने दी धमकी

रामनारायण गौतम, सक्ती। किसानों की खून पसीने की कमाई को धान खरीदी करने वाले प्रभारी किस तरह से लूट करने में लगे है। इसकी बानगी सेवा सहकारी समिति बाराद्वार के अंतर्गत ग्राम पंचायत भोथिया पंजीयन क्रमांक 824 में देखने को मिला। जहां के खरीदी प्रभारी अशोक चंद्रा किसानों से तय मात्रा  से अधिक धान तौल करा रहे थे।

इसके बाद अधिक मात्रा में तौल किये गए धान को प्रत्येक बोरी से धान को निकाल रहे थे। इसकी जानकारी वही के निवासी विजय चंद्रा को जानकारी होने पर उसने खरीदी केंद्र जाकर वहां काम कर रहे मजदूरों से जानकारी पूछना चाहा, लेकिन किसानों की धान की चोरी करने वाले खरीदी प्रभारी को यह बात नागवार गुजरी और उसने विजय को गाली गलौज करते हुए खरीदी केंद्र से बाहर भगा दिए। इतना ही नही खरीदी प्रभारी ने विजय को अपना मुंह बंद रखने की धमकी देने लगे।

जिससे नाराज विजय चंद्रा ने पूरे मामले की की शिकायत जैजैपुर तहसील और थाना में करते हुए खरीदी प्रभारी के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है। शिकायतकर्ता ने बताया भोथिया धान खरीदी केंद्र में किसानों से तय मात्रा से अधिक धान की तौल वहां के खरीदी प्रभारी के निर्देश पर किया जा रहा है। इसकी जानकारी पंचायत के कुछ किसानों ने मुझे दिया, तब मै जाकर जानकारी पूछना चाहा लेकिन खरीदी प्रभारी ने मुझे धमकाते हुए खरीदी केंद्र से बाहर निकाल दिया। किसानों के साथ हो रही इस अन्याय के खिलाफ मैंने जैजैपुर के तहसीलदार और टीआई से करते हुए कार्यवाही की मांग किया है।

किसान की धान से खरीदी प्रभारी हो रहे लाल... 

बता दे राज्य सरकार किसानों के धान को समर्थन मूल्य में खरीदी कर रही है। लेकिन सरकार और किसानों को छलते हुए भोथिया के खरीदी प्रभारी अपने जेब भरने में कोई कसर नही छोड़ रहे है। यही वजह है इंक द्वारा 41 किलो से 42 किलो की तौल कर किसानों को लूट रहे है। जबकि शासन के द्वारा जारी निर्देश के अनुसार किसानों से बोरी के साथ मे 40 किलो सात सौ ग्राम की खरीदी करना है। लेकिन भोथिया के खरीदी प्रभारी ने शासन के नियमों के ताक पर रखते हुए किसानों को लूटने में कोई कसर नही छोड़ रहा है।

अधिकारी दे ध्यान तो किसान नही होंगे परेशान... 

समर्थन मूल्य में धान बेचने के लिए किसानों को अनेकों प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ऊपर से धान खरीदी करने वाले कर्मचारियों और बैंक के अधिकारियों की लापरवाही के चलते किसानों को धान बेंचना किसी जंग जितने से कम नही है। यो वही खरीदी प्रभारियों के मनमानी ने किसानों को परेशान कर रखा है।

शिकायतकर्ता विजय चंद्रा ने बताया कि किसानों से तय मात्रा में अधिक धान तौल करने की जानकारी मुझे मिलने पर मैं धान खरीदी केंद्र में जाकर वहां के कर्मचारियों से जानकारी पूछने पर अशोक चंद्रा द्वारा मुझे धमकी दिया गया है।

ख़रीदी प्रभारी भोथिया अशोक चंद्रा ने कहा कि ये व्यक्ति रोज हमारे गांव में पेपर बांटता है हम क्या कर रहे है इसकी जानकारी उसे क्यों दे और वो कौन होता है। हमसे जानकारी पूछे। जो भी जानकारी देंगे जिम्मेदार अधिकारियों को देंगे।