breaking news New

26 नंवबर को देशव्यापी एक दिवसीय हड़ताल : श्रम संघ द्वारा परियोजना प्रमुख को सौपा गया ज्ञापन

26 नंवबर को देशव्यापी एक दिवसीय हड़ताल : श्रम संघ द्वारा परियोजना प्रमुख को सौपा गया ज्ञापन

बचेली/किरंदुल -संयुक्त ट्रेड यूनियन राष्ट्रिय फेडरेशन एवं आल इंडिया एनएमडीसी वर्कर्स फेडरेशन के आव्हान पर आगामी 26 नंवबर को केन्द्र सरकार की मजदूर कर्मचारी एवं जनविरोधी नीतियो के विरोध में एक दिवसीय हड़ताल किया जायेगा। जिसके तहत एनएमडीसी बचेली व किरंदुल दोनो ही परियोजना में एमएमडब्ल्यू एवं एसकेएमएस यूनियन द्वारा परियोजना प्रमुख को हड़ताल में जाने के संबंध में ज्ञापन सौपा गया।

एमएमडब्ल्यू यूनियन शाखा किरंदुल के प्रतिनिधि सदस्य एके सिंह ने बताया कि केन्द्र सरकार के विरोध में एक दिवसीय हड़ताल किया जा रहा है जिसमे राष्ट्रिय  मांगो के साथ-साथ स्थानीय मांग   भी शामिल है। जिसमे एनएमडीसी के कर्मचारियो की भर्ती प्रक्रिया जल्दी लागू करे। कोविड19 महामारी के दौरान जिनकी मृत्यु हुई ह ै उनके आश्रित सदस्य को अनुकंपा नियुक्ति दी जाए एवं परिवार को 50 लाख रूपये का मुआवजा दिया जाये।

एनआईएसपी नगरनार संयंत्र के डिमर्जर विनिवेशीकरण एवं सार्वजनिक उपक्रम का विनिवेश व निजीकरण का फैसला वापस ले। किसान विरोधी कानून वापस लो। 44 श्रम कानूनो को समाप्त करके बनाई गई मजदूर विरोधी 4 श्रम सहिताओ को निर्णय वापस लो। न्यूनतम वेतन 21 हजार घोषित करो, केन्द्र व राज्य में एक समान वेतन दो। सभी मजदूर को ईपीएफ, ग्रेच्युटी, नियमित रोजगार पेंशन व दुर्घटना लाभ आदि समाजिक सुरक्षा के दायरे में लाया जाये। कान्ट्क्ट फिक्स टर्म व ठेका प्रणाली की जगह नियमित रोजगार दो। नवीन पेंशन नीति की जगह पुरानी पेंशन नीति बहाल करे। मोटर व्हीकल एक्ट परिवहन मजदूर व मालिक विरोधी बदलाव वापस लो। भारी महंगाई पर रोक लगाओ, पेट्रोल , डीजल, रसोई गैस की कीमत कम करे। सहित कुल 15 राष्ट्रिय मांग एवं 2 स्ािानीय मांगों को लेकर एक दिवसीय हड़ताल किया जायेगा। इस मांगो के समर्थन में श्रम संघ द्वारा 12 नवंबर को आगामी हड़ताल में जाने की सूचना औघोगिक विवाद अधिनियम की 1947 की धारा 22 की उपधारा 1 में निहित प्रावधानो के अनुसार परियोजना प्रमुख को ज्ञापन सौंपा गया। इस दौरान श्रम संघ के सभी सदस्य उपस्थित रहे।