पूर्व मंत्री Ajay Chandrakar के खिलाफ थाने में FIR, राजकीय चिन्ह की तुलना गोबर से करने पर भड़के कांग्रेसी

पूर्व मंत्री Ajay Chandrakar के खिलाफ थाने में FIR, राजकीय चिन्ह की तुलना गोबर से करने पर भड़के कांग्रेसी

रायपुर, 28 जून। पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर द्वारा अपने फेसबुक पोस्ट में सरकार पर तंज कसते हुए डाले गए पोस्ट में गोबर को राजकीय चिन्ह बनाने की बात कहे जाने से नाराज कांग्रेसियों ने खैरागढ़ थाने में एफआईआर दर्ज कराई। कांग्रेसियों ने बताया कि पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने छत्तीसगढ़ के राजकीय चिन्ह की तुलना गोबर से की है। उनके खिलाफ इंडियन पैनल कोड की धारा 124(क) एवं 188 तहत अपराध पंजीबद्ध कराया गया है।

कांग्रेसियों ने मांग की कि राजकीय चिन्ह की तुलना गोबर से किए जाने पर अजय चंद्राकर का निवार्चन रद्द किया जाना चाहिए। छत्तीसगढ़ निर्वाचन आयोग से भी इसकी शिकायत अनुविभागीय दण्डाधिकारी निष्ठा तिवारी पान्डेय के माध्यम से की गई।

पूर्व पंचायत मंत्री अजय चंद्राकर ने ट्वीट कर योजना पर सवाल उठाते हुए गोबर को राजकीय प्रतीक चिन्ह बनाने का सुझाव दिया है, तो वहीं कांग्रेस ने भी पलटवार करते हुए चंद्रकार सहित अन्य बीजेपी नेताओं को दिमाग में भरे गोबर को इस योजना के तहत बेचकर आर्थिक लाभ कमाने को कह दिया था।

बता दें, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 26 जून को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर हरेली त्योहार से छत्तीसगढ़ में गोबर खरीदने के लिए गोधन न्याय योजना की शुरुआत करने की बात कही थी। इस योजना को अमल में लाने के लिए सरकार ने 5 मंत्रियों की समिति और अधिकारियों की एक अन्य समिति भी बनाई है। मंत्रिमंडल की समिति गोबर खरीदने की दर तय करेगी, जबकि मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बनी समिति गोबर से बनी खाद खरीदने की व्यवस्था करेगी। पूर्व पंचायत मंत्री अजय चंद्राकर ने ट्वीट कर योजना पर सवाल उठाते हुए गोबर को राजकीय प्रतीक चिन्ह बनाने का सुझाव दिया था।