breaking news New

नक्सली गतिविधि की सूचना के संबंध में सतर्कता से कार्रवाई करने के निर्देश

  नक्सली गतिविधि की सूचना के संबंध में सतर्कता से कार्रवाई करने के निर्देश


रमेश गुप्ता
भिलाई।
पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग रेंज दुर्ग बद्री नारायण मीणा द्वारा पुलिस महानिरीक्षक के सभागार में दुर्ग रेंज के पुलिस अधीक्षकों के साथ 4 घंटे की मैराथन बैठक ली गई। बैठक में पुलिस अधीक्षक दुर्ग डॉ. अभिषेक पल्लव, पुलिस अधीक्षक राजनांदगांव  संतोष सिंह, पुलिस अधीक्षक बेमेतरा धर्मेंद्र सिंह  पुलिस अधीक्षक कवर्धा लाल उमेद सिंह, पुलिस अधीक्षक बालोद  गोवर्धन ठाकुर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कार्यालय पुमनि दुर्ग रेंज नेहा पांडे उपस्थित रही।
बैठक में अपराधों की रोकथाम, लंबित अपराधों का त्वरित निराकरण, कानून व्यवस्था, व्हीआईपी ड्यूटी व नक्सली गतिविधि के संबंध में चर्चा की गई। बैठक में मुख्य रूप से नक्सली गतिविधि की सूचना के संबंध में अधीनस्थ स्टाफ को अलर्ट रहकर सर्तकतापूर्वक कार्रवाई करने निर्देशित किया गया। पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग रेंज दुर्ग  बद्री नारायण मीणा के द्वारा बैठक में जुआ, सट्टा और अवैध व्यापार पर कड़ी कार्रवाई से अंकुश लगाने के सख्त निर्देश दिए, साथ ही थानों के रिकार्ड दुरूस्त रखने, शिकायत आवेदन की जांच और निराकरण समय पर करने, उच्च न्यायालय से प्राप्त वारंटो पत्रों का सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर तामीली रिपोर्ट भेजने से संबधित आवश्यक निर्देश दिए।

पुलिस जवानों के साप्ताहिक रोस्टर के अनुसार समय पर साप्ताहिक अवकाश दिए जाने की बात पर जोर दिया।  दुर्ग रेंज के जिलों की अपराध एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए विभिन्न बिन्दुओं पर कार्यवाही संबंधी निर्देश दिये गये तथा इस बात पर विशेष बल दिया गया कि गंभीर किस्म के प्रकरणों में सतत विवेचना करते हुए यथाशीघ्र विधिसम्मत निराकरण किया जावे, प्रकरण लंबी अवधि तक विवेचना में लंबित न रहे। महिला संबंधी मामलों में तत्काल संज्ञान लेकर विधिसम्मत कार्यवाही किये जाने निर्देश दिये गये साथ ही इस बात पर विशेष बल दिया गया कि जिलों मे महिलाओं व बच्चों से संबंधित प्रकरणों में त्वरित कार्यवाही करते हुए समय-सीमा के भीतर त्वरित निराकरण किया जावे।
पुलिस महानिरीक्षक द्वारा निर्देशित किया गया कि अनियमित वित्तीय कंपनियों के विरूद्ध दर्ज प्रकरणों में अंतरिम कुर्की, अंतिम कुर्की, नीलामी तथा निवेशकों की धन वापसी की प्रतिदिन समीक्षा पुलिस अधीक्षकों के द्वारा स्वयं की जावे। अनियमित वित्तीय कंपनियों की राज्य एवं राज्य से बाहर स्थित अचल संपत्तियों के चिन्हांकन एवं उनकी कुर्की की कार्यवाही शीघ्र करावें तथा प्रकरणों के फरार आरोपियों की पता तलाश हेतु विशेष टीम गठित कर उनकी गिरफ्तारी कराई जावे। पुलिस महानिरीक्षक द्वारा जिलों में लंबित सभी गंभीर प्रकरणों - विशेषकर हत्या, हत्या का प्रयास, बलात्कार, अपहरण एवं महिला व बच्चों संबंधी अपराध, गुम इंसान जांच (महिला, बालक/बालिका), एससी एसटी एक्ट के प्रकरणों के निराकरण की ओर विशेष ध्यान दिये जाने तथा लंबित ऐसे सभी प्रकरणों की साप्ताहिक समीक्षा की जाकर समयबद्ध निराकरण करने निर्देशित किया गया। जिलों में गंभीर किस्म के प्रकरणों में जिनमें अभी तक गिरफ्तारी नहीं हो पाई है, ऐसे प्रकरणों में विशेष टीम गठित कर आरोपी के सभी संभावित ठिकानों पर दबिश देकर लगातार पतासाजी करते हुए फरार आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी कर प्रकरणों का निराकरण किये जाने निर्देशित किया गया। सांप्रदायिक तनाव की स्थिति, नवीन जिलों की अधोसंरचना हेतु तैयारी एवं एजेंडों पर चर्चा की गई।