breaking news New

TRP scam में गिरफ्तार आरोपित ने दो न्यूज चैनल से पैसे लेने की बात कबूली

TRP scam में गिरफ्तार आरोपित ने दो न्यूज चैनल से पैसे लेने की बात कबूली

मुंबई, 28 अक्टूबर। मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने मंगलवार को कहा कि टीआरपी घोटाले में गिरफ्तार आरोपित ने यह बात कबूल की है कि दो न्यूज चैनलों से उसे टीआरपी में हेरफेर के लिए पैसे मिले थे। अपराध शाखा ही कथित फर्जी टीआरपी रैकेट घोटाले की जांच कर रही है। रिपब्लिक टीवी ने हालांकि उसके दावे को झूठा बताया है और कहा कि मुंबई पुलिस प्रमुख का उनके चैनल को निशाना बनाने का यह एक और प्रयास है। मुंबई पुलिस ने अब तक इस मामले में दो चैनलों के मालिकों समेत 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। 

मुंबई पुलिस की जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया कि थाणे के पास रहने वाले आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसने रविवार को अपराध शाखा के सामने समर्पण कर दिया था। पूछताछ में उसने स्वीकार किया कि उसे रिपब्लिक टीवी और न्यूज नेशन से पैसे मिलते थे। 


पूछताछ के दौरान यह भी पता चला कि हंसा और एआरजी के बीच धन का लेनदेन हुआ है। हंसा रिसर्च ग्रुप प्रा. लि. ही ब्रॉडकास्ट आडियंस रिसर्च काउंसिल (बार्क) के बार-ओ-मीटर लगाने और उनकी देखभाल का काम करता है। बार्क केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय और टेलीकाम रेगुलेटरी अथारिटी के अंतर्गत काम करता है। इसका कार्य कुछ घरों में मीटर लगाकर उनके द्वारा देखे जाने वाले चैनल की निगरानी करना है। उसके बाद वह टीआरपी की गणना करता है। इस मामले में रिपब्लिक टीवी, न्यूज नेशन के अलावा अन्य कई चैनलों की जांच चल रही है।