breaking news New

नक्सल जीवन से त्रस्त होकर नक्सलवाद छोड़ने का फैसला, सीआरपीएफ तथा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

नक्सल जीवन से त्रस्त होकर नक्सलवाद छोड़ने का फैसला, सीआरपीएफ तथा पुलिस को मिली बड़ी सफलता

बीजापुर।  छत्तीसगढ़ के अतिसंवेदनशील सुकमा जिले में 204 कोबरा 151 बटालियन सीआरपीएफ तथा जिला पुलिस बड़ी सफलता मिली नक्सल जीवन से त्रस्त होकर व नक्सलियों की खोपड़ी विचारधारा से क्षुब्ध होकर नक्सलवाद को छोड़ने का फैसला कर तथा छत्तीसगढ़ शासन के पुना नर्कोम अभियान नई सुबह नई शुरुआत से प्रभावित होकर मुख्यधारा में जोड़ने के उद्देश्य से चार नक्सलियों द्वारा दिनांक 12 2022 को सुकमा पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया गया सभी नक्सली लंबे समय से माओवादी संगठन से जुड़कर काम कर रहे थे यह सुरक्षा बलों को नुकसान पहुंचाने संबंधि विभिन्न नक्सली घटनाओं में शामिल थे इन चार नक्सलियों के समर्पण से माओवादी संगठन को बड़ा झटका लगा है  राजीव कुमार ठाकुर उपमहानिरीक्षक परिचालन गोंडा श्री रातुल दास कमांडेंट 204 कोबरा श्री प्रदुमन कुमार सिंह कमांडेड 151 बटालियन की उपस्थिति में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा चलाए जा रहे पुना नर्कोम अभियान के तहत चार नक्सलियों ने बिना हथियार समर्पण किया इन नक्सलियों का विवरण 

1. कोरसा छोटू पिता कोरसा मंगलू 23 वर्ष ग्राम सिलगेर जिला सुकमा

2.कोरसा मोटू पिता लखमा 22 वर्ष सिलगेर जिला सुकमा

3.कोरसा भीमा पिता आयतू 25 वर्ष जिला सुकमा आत्मसमर्पण करने में उप निरीक्षक मनीष कुमार राय 204 कोबरा जेपी मीणा उप कमांडेंट 151 बटालियन केंद्रीय पुलिस बल ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई