breaking news New

समय आ गया है कि भारत वैश्विक अर्थव्यवस्था में अपना सही स्थान हासिल करे - मुंजाल

समय आ गया है कि भारत वैश्विक अर्थव्यवस्था में अपना सही स्थान हासिल करे - मुंजाल

गांधीनगर .भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) गांधीनगर ने आज अपने 10वें दीक्षांत समारोह का ऑनलाइन आयोजन किया जिसमें बतौर मुख्य अतिथि हीरो मोटोकॉर्प लिमिटेड के अध्यक्ष और सीईओ डॉ पवन मुंजाल ने अपने सम्बोधन में कहा कि अब समय आ गया है कि भारत वैश्विक अर्थव्यवस्था में अपना सही स्थान हासिल करे।

आभासी माध्यम से अपने सम्बोधन में श्री मुंजाल ने छात्रों से बड़े सपने देखने और एक ऐसी दुनिया बनाने का आग्रह किया जिसमें वे रहना चाहते हैं। उन्होंने कहा, “अब समय आ गया है कि भारत वैश्विक अर्थव्यवस्था में अपना सही स्थान हासिल करे। यह दुनिया को दिखाने का समय है कि प्रौद्योगिकी दिग्गजों का अगला समूह भारत से पैदा होगा। हमने हमेशा अपनी सरलता, जनसांख्यिकीय लाभांश, और हमारी कभी हार नहीं मानने की भावना के बारे में बात की है; यदि इन गुणों का अधिकतम लाभ उठाने का समय है, तो निश्चित रूप से अब है। और आप युवा लोगों को, सामने से इस कार्य का नेतृत्व करना होगा।''

उन्होंने छात्रों से कहा अब से आगे बढ़ते हुए जब आप अपने जीवन का दायित्व संभालोगे तो कुछ भी और सब कुछ संभव है। तैयार रहें और दुनिया को जीतने के लिए तैयार हो जाएं। हमेशा अपने आप को याद दिलाएं कि आप में से प्रत्येक में असंभव को “आई एम पॉसिबल” में बदलने की क्षमता है।

इस मौक़े पर उन्होंने हीरो मोटोकॉर्प को एक गौरवान्वित भारतीय कंपनी बनाने और बदलने की अपने पिता डॉ. बृजमोहन लाल मुंजाल और अपनी प्रेरक यात्रा को भी साझा किया। संस्थान के निदेशक प्रोफेसर सुधीर जैन वर्ष के दौरान संस्थान की गतिविधियों और उपलब्धियों का विवरण दिया।

वर्च्युअल समारोह के माध्यम से कुल 548 छात्रों को डिग्री प्रदान की गई। संस्थान ने 175 बीटेक छात्रों, 5 ड्युअल मेजर बीटेक छात्रों, 1 बीटेक-एमटेक ड्युअल डिग्री छात्र, 155 एमटेक छात्रों, 95 एमएससी छात्रों, 30 एमए छात्रों, 86 पीएचडी छात्रों और 1 पीजीडीआईआईटी छात्र को डिजिटल डिग्री प्रदान की। इस वर्ष, 52 छात्रों ने 58 पदक प्राप्त किए; जिनमे शिक्षा, उत्कृष्ट अनुसंधान, नवाचार, नेतृत्व, समाज सेवा, खेल, कला और संस्कृति आदि जैसी विभिन्न श्रेणियों में उत्कृष्टता के लिए 42 स्वर्ण पदक और 16 रजत पदक शामिल है।