breaking news New

गोठानों में वर्मी टांकों के निर्माण में गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखें निर्माण एजेंसिंया

 गोठानों में वर्मी टांकों के निर्माण में गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखें निर्माण एजेंसिंया


बैकुण्ठपुर जनपद के कई गौठानों में निरीक्षण कर जिला पंचायत सीइओ ने दिए निर्देष
बैकुण्ठपुर।  गत दिवस जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  कुणाल दुदावत ने बैकुंठपुर जनपद पंचायत क्षेत्र के तरगवां, सरभोका, बोड़ार आदि गौठानो का औचक निरीक्षण किया और वर्मी कम्पोस्ट निर्माण में गति लाने के लिए सम्बंधित समूह की महिलाओं से आवश्यक चर्चा कर उन्हे जल्द से जल्द सारे वर्मी कंपोस्ट की पैकिंग करने को कहा। ग्राम पंचायतों में  सुराजी ग्राम योजना के तहत बन रहे सभी गौठानों में गोबर से वर्मी खाद बनाए जाने के लिए पक्के टांकों का निर्माण कराया जा रहा है। सभी निर्माण एजंेसियां इसकी गुणवत्ता पर विषेष ध्यान देते हुए समय-सीमा में सारे निर्माण कार्य पूर्ण कराएं। उक्ताषय के विचार जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री कुणाल दुदावत ने गौठान में निरीक्षण के दौरान व्यक्त किए। अपने अचानक निरीक्षण भ्रमण के दौरान जिला पंचायत सीइओ सबसे पहले तरगंवा स्थित ग्राम गोठान पहुंचे यहां खरीदे गए गोबर से वर्मी कंपोस्ट बनाने की धीमी गति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए गोठान के नोडल अधिकारी को समूह से चर्चा कर जल्द से जल्द गोबर से वर्मी कंपोस्ट बनाने के निर्देष दिए। इसके बाद तरगंवा की सहकारी साख समिति में पहुंचकर उन्होने यहां कर्मचारियों से रासायनिक उर्वरकों और वर्मी खाद के वितरण के बारे में जानकारी ली। यहां उपस्थित महिला कृषक श्रीमती ष्यामबाई से उन्होने वर्मी खाद के उठाव के बारे में जानकारी प्राप्त की।
महिला कृषक को उन्होने राजीव गांधी किसान न्याय योजना और मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना के बारे में जानकारी प्रदान करते हुए वर्मी खाद के उपयोग से खेतों में होने वाले लाभ के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इसके बाद उक्त महिला किसान ने अपने गांव के गौठान से ही वर्मी खाद लेने पर सहमति जताई।
        ग्राम पंचायत तरगंवा में  सहकारी साख समिति के कर्मचारियों को रासायनिक खाद के आवंटन के साथ ही वर्मी खाद के बारे में सभी किसानों को अवगत कराने एवं सभी पंजीकृत किसानों को कार्यालय से ही किसान क्रेडिट कार्ड का लाभ प्रदान करने के निर्देष दिए। यहां कर्मचारियों ने बताया कि तरगंवा में गत वर्ष से ही सहकारी साख समिति का कार्य प्रारंभ हुआ है और यहां 1280  किसान पंजीकृत हुए हैं। ग्राम पंचायत तरगंवा के बाद जिला पंचायत सीइओ ने ग्राम पंचायत सरभोका स्थित गौठान में जाकर कृषि विभाग द्वारा बनाए जा रहे वर्मी टांकों का निरीक्षण किया। प्रथम दृष्टया कार्य की गुणवत्ता अच्छी नहीं होने पर उन्होने कार्य एजेंसी के प्रति गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए एक सप्ताह में गुणवत्ता के साथ कार्य पूर्ण कराने के निर्देष दिए। यहां समूह की दीदियों से चर्चा कर उनहोने बन चुके वर्मी खाद की पैकिंग जल्द करने के लिए कहा। समूह की महिलाओं को वर्मी खाद विक्रय के बाद ही लाभ होने की समझाइष देते हुए जिला पंचायत सीइओ ने ग्राम गौठान के नोडल को जल्द सारे वर्मी कंपोस्ट की छनाई और पैकिंग कराने के निर्देष प्रदान किए। इसके बाद उन्होने ग्राम पंचायत बोड़ार के ग्राम गौठान का निरीक्षण किया यहां भी समूह की महिलाओं से चर्चा कर खाद बनाने के बाद जल्द पैकिंग कराने के निर्देष दिए। यहां ग्राम पंचायत एजेंसी द्वारा विकसित किए जा रहे चारागाह विकास कार्य का निरीक्षण करने के बाद उनहोने आवष्यक दिषा निर्देष देते हुए जल्द से जल्द पौधारोपण कार्य प्रारंभ कराने के निर्देष दिए। बोड़ार के नोडल अधिकारी को सभी तरह की आनलाइन इंट्री जल्द कराने को कहा। विभिन्न ग्राम गौठानों का निरीक्षण कर जिला पंचायत सीइओ ने संबंधित अधिकारी कर्मचारियों को ऑनलाइन इंट्री,पौधारोपण और चारागाह के विषय में आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। जिला पंचायत सीइओ के भ्रमण के दौरान कृषि विभाग के अधिकारी कर्मचारी व ग्राम पंचायतों के सचिव व नोडल अधिकारी उपस्थित रहे।