कोरोना वायरस से अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 345 मौतें, 18 हजार नए मामले

कोरोना वायरस से अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 345 मौतें, 18 हजार नए मामले

वॉशिंग्टन। इटली और स्पेन के बाद अब दुनिया की महाशक्ति अमेरिका कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा पीड़ित नजर आर रहा है। बीते 24 घंटे में यहां इस घातक वायरस कोविड- 19 के चलते 345 लोगों की मौत हुई है और इस संक्रमण के 18,000 नए मामले सामने आए हैं। अमेरिका में इस वायरस से मरने वालों की तादात अब 1550 के करीब पहुंच गई है, जबकि एक लाख से ज्यादा लोग इस गंभीर संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं।

राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने देश की ऑटोमोबाइल कंपनियों जनरल मोटर्स और फोर्ड से अब गाड़ियों के निर्माण की बजाए वेंटिलेटर मशीनें तैयार करने को कहा है। वैश्विक महामारी बन चुका कोविड- 19 अमेरिका में इस तेजी से फैल रहा है जैसे जंगल में आग।

न्यूयॉर्क सबसे ज्यादा प्रभावित
न्यूयॉर्क अमेरिका में सबसे ज्यादा प्रभावित शहर में से है। अमेरिका के कुल संक्रमित मामलों में से आधे से ज्यादा यहीं से हैं। खबरें हैं कि न्यूयॉर्क के अस्पतालों में अब ऑक्सिजन, कैथिटर (नलियां) और दवाइयों की कमी भी सामने आ रही है। न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका के कई विशेषज्ञों ने आशंका जताई है कि अगर न्यूयॉर्क में हालात जल्दी ही काबू नहीं हुए तो यहां चीन के वुहान से ज्यादा गंभीर हालत हो सकते हैं।

अर्थव्यवस्था संभालने के लिए 2 ट्रिलियन डॉलर का राहत पैकेज
अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने अमेरिका की बिगड़ रही अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए 2 ट्रिलियन डॉलर के राहत पैकेज को मंजूरी दे दी है। अमेरिकी अर्थव्यवस्था के आधुनिक इतिहास में यह सबसे बड़ा राहत पैकेज है।

इस राहत पैकेज के तहत सरकार अर्थव्यवस्था को कोरोना के संकट से उबारने के लिए बेरोजगारों को व्यक्तिगत लाभ,भुगतान, राज्यों को पैसा और व्यापार जगत को जरूरी राहत देगी।