breaking news New

शोक : राहुल गांधी, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मोतीलाल वोरा को दी श्रद्धांजलि, कहा, 'मैंने अपनी राजनीति का ककहरा बाबूजी से सीखा' प्रदेश कांग्रेस में शोक की लहर

शोक : राहुल गांधी, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मोतीलाल वोरा को दी श्रद्धांजलि, कहा, 'मैंने अपनी राजनीति का ककहरा बाबूजी से सीखा' प्रदेश कांग्रेस में शोक की लहर

रायपुर. पूर्व मुख्यमंत्री, पूर्व राज्यसभा सांसद और अखिल भारतीय कांंग्रेस के कोषाध्यक्ष रहे मोतीलाल वोरा का आज 93 वर्ष की उम्र में दोपहर 3 बजे के आसपास निधन हो गया.

सूत्रों के मुताबिक खराब सेहत की वजह से कल रात उन्हें एस्कार्ट हास्पिटल में भर्ती कराया गया था जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी. श्री वोरा छत्तीसगढ़ के दिग्गज नेताओं में से एक थे. वे उत्तर प्रदेश के राज्यपाल भी रहे. वे सालों तक अखिल भारतीय कांंग्रेस के कोषाध्यक्ष रहे. वोरा मिलनसार, मदृभाषी और स्वच्छ छबि के राजनेता थे. कल ही उन्होंने अपना 92वां जन्मदिन मनाया था. उनके बेटे अरूण वोरा फिलहाल विधायक हैं.

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने श्री वोरा को अपनी श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि वे सच्चे कांग्रेसी और सहदृयी इंसान थे. हम उन्हें कभी नही भूल पाएंगे. उनके परिवार और दोस्तों के प्रति स्नेह और सच्ची संवेदना.

मुख्यमंत्री ने दी श्रद्धांजलि

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने श्री वोरा याद करते हुए अपनी श्रद्धांजलि में कहा कि बाबूजी का जाना न केवल छत्तीसगढ़ बल्कि पूरे कांग्रेस परिवार के लिए एक अभिभावक के चले जाने जैसा है। ज़मीनी स्तर से राजनीति शुरु करके राष्ट्रीय स्तर पर उन्होंने अपनी एक अलग पहचान बनाई और आजीवन एक समर्पित कांग्रेसी बने रहे। उनकी जगह कभी नहीं भरी जा सकेगी। मैंने अपनी राजनीति का ककहरा जिन लोगों से सीखा उनमें बाबूजी एक थे. अविभाजित मध्यप्रदेश से लेकर छत्तीसगढ़ तक वे हम कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिए एक पथ प्रदर्शक थे। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान दें और परिवार को इस कठिन समय में दुख सहने की शक्ति प्रदान करें।

कांग्रेस सांसद ज्योत्सना चरणदास महंत सहित अनेक राष्ट्रीय नेताओं ने तथा दैनिक आज की जनधारा परिवार ने उनके निधन पर अपनी श्रद्धांजलि ज्ञापित की है.