कांग्रेस ने चुनाव कार्यक्रम का स्वागत करते हुए कहा : नीतीश के कुशासन से पीड़ित बिहार की जनता पाना चाहती है मुक्ति

कांग्रेस ने चुनाव कार्यक्रम का स्वागत करते हुए कहा : नीतीश के कुशासन से पीड़ित बिहार की जनता पाना चाहती है मुक्ति

नयी दिल्ली।  कांग्रेस ने बिहार विधानसभा चुनाव कार्यक्रमों की चुनाव आयोग की घोषणा का स्वागत करते हुए कहा है कि बिहार की जनता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कुशासन से पीड़ित हो चुकी है और वह उससे मुक्ति पाना चाहती है।

कांग्रेस के बिहार के प्रभारी महासचिव शक्तिसिंह गोहिल ने शुक्रवार को यहां सवांददाता सम्मेलन में कहा कि आज चुनाव आयोग ने 28 अक्टूबर से तीन चरणों में बिहार विधानसभा चुनाव कराने की घोषणा की है। बिहार की जनता भारतीय जनता पार्टी और जनता दल-युनाइटेड की गठबंधन सरकार के कुशासन से छुटकारा चाहती है इसलिए कांग्रेस इस घोषणा का स्वागत करती है।

उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा का चुनाव राजनैतिक दलों के बीच नहीं बल्कि बिहार की जनता के अहम मुद्दे और नीतीश सरकार के कुशासन के बीच होने जा रहा है। बिहार में शासन प्रशासन के बीच कोई तालमेल नहीं है और जो खींचतान सत्ता में चल रही है उसमें जनता पीस रही है। बिहार में कहीं कोई सुखी नहीं है और जनता को 15 साल से गुमराह किया जा रहा है।

प्रवक्ता ने बिहार में सुशासन की बात को एक फरेब करार दिया और कहा कि सु:शासन की बात करने वाले को जनता ने पहचान लिया है। बिहार की असलिय यह है कि वहां हर जगह लोग दुखी और त्रस्त हैं। भाजपा के नेतृत्वा वाली सरकार ने जिस नीति आयोग का गठन किया था अब वही नीति अयोग कह रहा है कि बिहार सतत विकास में पूरे देश में सबसे नीचले स्तर पर है।

उन्होंने कहा कि भाजपा की किसान विरोधी नीतियों के कारण आज पूरे देश के किसान सड़कों पर हैं और उसके खिलाफ अपने गुस्से का इजहार कर रही है। बिहार में अब भाजपा और जद-यू जो भी खेल खेले लेकिन बिहार की जनता इस बार इनके झांसे में नहीं आएगी। उनका कहना था कि कांग्रेस और उसके गठबंधन के सहयोगी एक सकारात्मक एजेंडे के साथ चल रहे हैं इसलिए बिहार में इस बार उन्हीं की सरकार बनेगी।