breaking news New

विदेशो मे रह रहे हिन्दू परिवारों को दी जाएगी निःशुल्क अस्थि विसर्जन सेवाः चरणजीव मल्हौत्रा

विदेशो मे रह रहे हिन्दू परिवारों को दी जाएगी निःशुल्क अस्थि विसर्जन सेवाः चरणजीव मल्हौत्रा


नई  दिल्ली। दिल्ली में कार्यरत  समाज सेबी सन्गठन  सन्त शिव  सेवा   फाउंडेशन   ने बिदेशों में बसे अप्रवासी हिन्दुओं के स्वर्गबास के बाद उनकी अस्थियो को हिन्दू रीति रिवाज़ों से गँगा नदी में हरिद्वार में बिसर्जन और उनकी आत्मा की शान्ति और मुक्ति के लिए धार्मिक अनुष्ठान निशुल्क शुरू करने का बीड़ा उठाने का फैसला किया हैं।

संगठन के   संथापक  श्री चरण जीव मल्होत्रा ने बताया इस समय बिदेशों में बसे हिन्दुओं की मृत्यु के बाद उनके परिजन ज्यादतर अपने प्रियजनों की अस्थिओं को समुद्र में बहा देते हैं जबकि हिन्दू रीती रिवाज़ के अनुसार इन अस्थिओं को पावन नदियों में बिसर्जन करना चाहिए तथा इससे जुड़े धार्मिक अनुष्ठान किये जाने चाहिए। उनका कहना है की वो बिदेशो में बसे हिन्दू संगठनों से सम्पर्क में है तथा उन्हें आशा है की इस कार्य को पूरे विशव मे सै यह सेवा मिलेगी।

उन्होंने बताया की उन्होंने इस सिलसिले में अमेरिका , कनाडा , अफरीका ऑस्ट्रेलिया सहित अन्य देशों में हिन्दू संस्थाओं से बातचीत की है और उन्हें कहा है की बह इस सिलसिले में बहां रहने बाले हिन्दु परिवारो को जानकारी दें।  श्री चरण जीव मल्होत्रा ने बताया -की अप्रबसी हिन्दु अपने दिबंगत परिजनों की अस्थिओं को कूरियर से उनके भेज सकते हैं तथा उसके बाद वो पुरे धार्मिक रीति रिबाज़ से उनकी अस्थिओं को प्रबहित करेगे तथा अन्य सभी धार्मिक अनुष्ठान भी अपने खर्चे पर करेगे।

एम्बुलेंस मैन के तौर पर ख्याति प्राप्त चिरंजीव मल्होत्रा ने कोरोना काल में कोरोना से पीड़ित परिबारों को मुफ्त दवाइयाँ / राशन / ऑक्सीजन सिलैंडर पहुंचाने और कोरोना से जान गंबा देने बाले लोगों के अंतिम संस्कार करने के लिए छह एम्बुलेंस खरीदी तथा उन सैकड़ों लोगों का अपने खर्चे पर अन्तिम संस्कार करबाया जिनको उनके घर परिबार के लोग छोड़ चुके थे।

कोरोना के दौरान किसी.किसी के घर में तो पूरा परिवार ही संक्रमित था। ऐसे में उन्होंने इन परिवारों की मदद के लिए निशुल्क दवाइयां पहुंचाई और ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराया। इसके साथ ही उन्होंने कोरोना के दौरान सात हजार से अधिक परिवारों को निशुल्क राशन वितरण किया और लंगर सेवा भी शुरू की। बह अब तक चालीस हज़ार लोगो की अस्थियां गँगा नदी में बिसर्जित कर चुके हैं और उनका संस्कार हिन्दू धार्मिक रीति रिवाज़ से कर चुके हैं जोकि आर्थिक स्थिति की बजह से सक्षम नहीं थे। हजारोलावारिस लोगो का अन्तिम सन्सकार भी करवा चुके है।

श्री चरण जीव मल्होत्रा को  कोरोना काल में  उल्लेखनीय सेबा के लिए राष्ठ्रीय स्वंय सेवक संघ के सर संघ चालक मोहन भागवत ने गत 21 नवंबर को बिज्ञान भवन में आयोजित समारोह में प्रतिष्ठित संत ईश्वर समानं से सम्मानित किया