breaking news New

खरसिया सिविल अस्पताल में समस्याओं अंबार

खरसिया सिविल अस्पताल में समस्याओं अंबार

खरसिया। विकासखण्ड का एकमात्र सर्वसुविधायुक्त सिविल अस्पताल खरसिया में स्थित है। उक्त सिविल अस्पताल में कई समस्याएं विद्यमान है तथा विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी होने के कारण क्षेत्र के गरीब किसान, मजदूर एवं आदिवासियों को इधर उधर भटकना पडता है। आम जनों के इस समस्याओं के समाधान करने हेतु जोगी कांग्रेस द्वारा कलेक्टर एवं प्रदेश  के स्वास्थ्य मंत्री से शीघ्र निराकरण करने संबंधी ज्ञापन अस्पताल प्रभारी डी.पी.पटेल को विधानसभा अध्यक्ष मोनू केसरी ने ज्ञापन सौंपा।

जानकारी के अनुसार  जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के विधानसभा अध्यक्ष मोनू केसरी ने आज तीन सूत्रीय मांगों को लेकर सिविल अस्पताल प्रभारी डा. डी.पी.पटेल को ज्ञापन सौंपा जिसमें उल्लेख किया गया है कि सिविल अस्पताल खरसिया में विषेशज्ञ चिकित्सकों की कमी है जिनमें नेत्र रोग विषेशज्ञ, हड्डी रोग

विषेशज्ञ, नाक, कान गला रोग विषेशज्ञ डाक्टर सिविल अस्पताल खरसिया में नहीं होने के कारण खरसिया विकासखण्ड के आम जनता को उक्त रोग से पीडित होने के कारण रायगढ़ बिलासपुर रायपुर इलाज के लिये जाना पडता है।  जिससे उनका  आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है।  इसलिये सिविल अस्पताल खरसिया में उक्त रोगों के विषेशज्ञ डाक्टरों का पदस्थाना किया जावे।

 वहीं वर्तमान में भीषण  गर्मी का मौसम है तथा सिविल अस्पताल खरसिया में पर्याप्त मात्रा में कूलर की व्यवस्था नहीं होने के कारण मरीजों के अलावा डाक्टरों,अस्पताल स्टाफ को भी इस भीषण गर्मी के मौसम में अपने डयुटी करने में परेशानियों  का सामना करना पड रहा है वहीं मरीजो की हालत तो और भी खराब रहती है। इसलिये सिविल अस्पताल में शीघ्र की पर्याप्त मात्रा में कूलरो की व्यवस्था कराया जाना जनहित में आवष्यक है।  इसके अलावा वर्तमान में सिविल अस्पताल खरसिया में मरम्मत कार्य चल रहा है जिसमें ठेकेदार द्वारा मरम्मत कार्य को थूक पालिस जैसा कार्य किया जा रहा है।जो कि ज्यादा दिनों तक टिकाउ नहीं होगा इसके अलावा उक्त मरम्मत कार्य सक्षम अधिकारी के देख रेख के बिना ही कराया जा रहा है जिस पर तत्काल रोक लगाया जाना अतिआवश्यक है। 

 यदि उक्त मांगों पर शीघ्र  ही ध्यान नहीं दिया गया तो जोगी कांग्रेस आंदोलन करने को बाध्य होगा। जोगी कांग्रेस ने उक्त ज्ञापन की प्रतिलिपि प्रदेश  के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को भी प्रेषित  किया है।