breaking news New

फर्जी पहचानपत्र के जरिए भारत में 20 साल से रह रहे बंगलादेशी मानव तस्कर गिरफ्तार

फर्जी पहचानपत्र के जरिए भारत में 20 साल से रह रहे बंगलादेशी मानव तस्कर  गिरफ्तार

नयी दिल्ली।  सीमा सुरक्षा बल(बीएसएफ) ने फर्जी पहचानपत्र के जरिए भारत में 20 साल से रह रहे एक बंगलादेशी मानव तस्कर को गिरफ्तार किया है।
बंगलादेश में सतखिरा जिले के मोलापाड़ा गांव निवासी हसन गाजी की पुलिस को लंबे समय से तलाश थी। वह पश्चिम बंगाल में उत्तरी 24 परगना जिले के इतिंदा गांव में रह रहा था। एक खुफिया सूचना के आधार पर गाजी को सोमवार को घोजडांगा सीमा चौकी के पास गिरफ्तार किया गया। उसके पास से दो मोबाइल फोन, भारतीय सिम कार्ड , पांच बांग्लादेशी सिम कार्ड और कई फर्जी आधार कार्ड बरामद किये गये।
पूछताछ में गाजी ने खुलासा किया कि वह एक बांग्लादेशी नागरिक है और अवैध तरीकों से भारत में प्रवेश करने के बाद 20 वर्षों से गैरकानूनी रूप से यहां रह रहा था। उसका विवाह भारतीय महिला खुखुमोनी बीबी से हुआ था और दोनों ने जालसाजी के माध्यम से गढ़े हुए सरकारी दस्तावेज हासिल किए थे। उनके पास दो फर्जी आईडी आधार कार्ड थे, जिनका इस्तेमाल वे बंगलादेशी नागरिकों को अवैध रूप से सीमा पार करने की सुविधा के लिए एक साधन के रूप में इस्तेमाल कर रहे थे। बीएसएफ अधिकारियों ने कहा कि उसने सिंडिकेट और कई अन्य तस्करों के नाम का भी खुलासा किया जो उसके साथ मानव तस्करी में शामिल हैं।