breaking news New

मोदी सरकार का मतलब मुसीबत महामारी महंगाई है -चोलेश्वर चंद्राकर

मोदी सरकार का मतलब मुसीबत महामारी महंगाई है -चोलेश्वर चंद्राकर

 सक्ती, 5 जून। केंद्र में एनडीए की भाजपा गठबंधन मोदी सरकार के जनविरोधी निर्णय एवं कमर तोड़ महंगाई के विरोध में छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर जिला कांग्रेस कमेटी जांजगीर चांपा के समस्त ब्लॉक बूथ स्तर पर महंगाई विरोधी तख्ती बैनर के साथ वर्चुअल आंदोलन किया गया इसी कड़ी में जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डा चौलेश्वर चंद्राकर ने अपने गृह ग्राम सरहर में केंद्र की मोदी सरकार के विरोध में घर के बाहर कोविड-19 नियमों का पालन करते हुए धरना प्रदर्शन किया।

 इस दौरान जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डॉक्टर चंद्राकर ने कहा कि देश में जब से भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार विराजमान हुई है तभी से देश विकास की दिशा में पिछड़ गया है। मोदी के तानाशाही निर्णय एवं जुमलेबाजी से देश परेशान हैं चंद्राकर ने कहा कि मोदी का मतलब मुसीबत महामारी महंगाई हो गई है जन जन केंद्र सरकार से प्रताड़ित है चारों तरफ महंगाई सभी क्षेत्रों में आसमान छू रही है चाहे वह खाद्य पदार्थों पेट्रोल डीजल हो गैस हो या फिर आवश्यक वस्तुओं के कीमतों में वृद्धि का मामला सभी तरफ महंगाई का बोलबाला है वैश्विक महामारी कोरोना के मार से जानता  वैसे भी कराह रही है ऊपर से केंद्र की मोदी सरकार जनता के जख्मों में मलहम लगाने की बजाए महंगाई का नमक छिड़क रही है कांग्रेस पार्टी के निर्देश पर हम केंद्र सरकार की गलत नीतियों का विरोध करते हैं जनता जनार्दन के साथ खड़ी होकर कांग्रेस मोदी सरकार के विरोध स्वरूप सभी पदाधिकारी कार्यकर्ताओं के माध्यम से अपने घर के सामने 2 घंटे का सांकेतिक धरना सुबह10:00 बजे से लेकर 12:00 बजे तक किये है।

डाक्टर चन्द्राकर ने कहा कि हमारे कांग्रेस के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं ने धरना प्रदर्शन का वीडियो सोशल मीडिया में प्रसारित कर देश में मोदी के महंगाई वाली सरकार को बेनकाब करने का काम किया है।ज्ञात हो कि जिला जांजगीर चांपा कांग्रेस कमेटी के द्वारा चलाए गए इस वर्चुअल धरना प्रदर्शन में जिले के सभी ब्लॉकों में ब्लॉक अध्यक्षों के साथ कांग्रेस के सभी बड़े नेता गण पदाधिकारी कार्यकर्ताओं ने धरना प्रदर्शन में अपनी भागीदारी सुनिश्चित किया है।डॉक्टर चंद्राकर द्वारा अपने न गृह ग्राम सरहर में धरना के पश्चात जैजैपुर विधानसभा के दर्राभाठा गांव पहुंचकर धरना प्रदर्शन के माध्यम से मोदी सरकार की खिलाफत किया।