breaking news New

लेमरू अभ्यारण्य क्षेत्र के लोगों का नहीं किया जाएगा विस्थापन - मुख्यमंत्री

 लेमरू अभ्यारण्य क्षेत्र के लोगों का नहीं किया जाएगा विस्थापन - मुख्यमंत्री

कोरबा । मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने कोरबा के घण्टाघर मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि लेमरू अभ्यारण्य क्षेत्र में निवास करने वाले लोगों को नहीं हटाया जाएगा। उन्होंने कहा कि अभ्यारण्य क्षेत्र में निवास करने वाले आदिवासियों को पहले की तरह सभी सुविधाएं मिलती रहेंगी। आदिवासियों का विस्थापन नहीं किया जाएगा। क्षेत्रांतर्गत लोगों को मिलने वाले वन अधिकार पत्र भी पहले की तरह मिलते रहेंगे। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के लोगों को लघुवनोपज संकलन करने में कोई परेशानी नहीं होगी। किसी भी आदिवासियों को अभ्यारण्य क्षेत्र से बाहर नहीं किया जाएगा। मुख्यमंत्री  बघेल इस दौरान जिले में विभिन्न विकास कार्यों के लोकार्पण, भूमिपूजन कार्यक्रम मे शामिल होकर विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री  बघेल के द्वारा विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं के अंतर्गत लाभान्वित हितग्राहियों को सामग्री तथा चेक राशि का वितरण भी किया। 836 करोड़ रूपये से अधिक के 883 विकास कार्यों के भूमिपूजन, लोकार्पण तथा सामग्री वितरण का मुख्यमंत्री के द्वारा किया गया। उन्होंने लगभग 776 करोड़ से अधिक के 159 विकास कार्यों का भूमिपूजन किया। लगभग साढ़े 61 करोड़ के 38 विकास कार्यों का लोकार्पण भी किया। मुख्यमंत्री के द्वारा विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत 686 लाभान्वित हितग्राहियों को लगभग साढ़े सात करोड़ का सामग्री वितरण भी किया गया। लोकार्पण-शिलान्यास समारोह में विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत, सांसद कोरबा श्रीमती ज्योत्सना महंत, जिले के प्रभारी मंत्री और स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, राजस्व मंत्री  जयसिंह अग्रवाल, विधायक पाली-तानाखार  मोहित राम केरकेट्टा, विधायक कटघोरा  पुरूषोत्तम कंवर, संसदीय सचिव सु शकुंतला साहू, विधायक रामपुर  ननकी राम कंवर, पूर्व विधायक  बोधराम कंवर, महापौर  राजकिशोर प्रसाद, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती शिवकला सिंह कंवर सहित आईजी बिलासपुर संभाग आयुक्त  रतन लाल डांगी, कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल, पुलिस अधीक्षक  अभिषेक मीणा, नगर निगम आयुक्त  एस. जयवर्धन एवं अन्य अधिकारी-कर्मचारी, जनप्रतिनिधिगण तथा गणमान्य नागरिकगण मौजूद रहे।

शिलान्यास-लोकार्पण समारोह को संबोधित करते हुए राजस्व मंत्री  जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री  बघेल द्वारा पूर्व में मेडिकल कॉलेज स्थापना का घोषणा किया गया था। राजस्व मंत्री ने जिले में मुख्यमंत्री के आशीर्वाद स्वरूप लोगों को मेडिकल कॉलेज की सौगात देने के लिए उनका आभार जताया। राजस्व मंत्री ने मेडिकल कॉलेज का नाम स्व.  बिसाहू दास महंत के नाम पर नामकरण करने की मांग की। राजस्व मंत्री  अग्रवाल ने मुख्यमंत्री से निवेदन करते हुए अशोक वाटिका को ऑक्सीजोन के रूप में विकसित करने 10 करोड़ रूपए की राशि मंजूर करने की मांग की। उन्होंने कोरबा में एल्युमिनियम पार्क बनाने की भी मांग की। उन्होंने शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल का नामकरण  कृष्णा लाल जयसवाल के नाम पर करने की भी मांग की।