breaking news New

बालको ने कोरोना की दूसरी लहर से निपटने के लिए की डेढ़ लाख नागरिकों की मदद

बालको ने कोरोना की दूसरी लहर से निपटने के लिए की डेढ़ लाख नागरिकों की मदद

 बालकोनगर, 17 जून। भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) ने कोरोना की दूसरी लहर से निपटने की दिशा में लगभग डेढ़ लाख नागरिकों की मदद की। सामुदायिक विकास कार्यक्रम के अंतर्गत बालको ने ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता और सैनिटाइजेशन अभियान संचालित किया। जिला प्रशासन का सहयोग करते हुए बालको ने पीपीई किट और दवाइयां वितरित कीं। कोरोना से लड़ने के लिए नया रायपुर में 100 बिस्तरों का अत्याधुनिक बालको फील्ड अस्पताल स्थापित किया गया। परियोजना उन्नति और वेदांता स्किल स्कूल के जरिए जरूरतमंद नागरिकों के लिए आजीविका के अवसर उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

 बालको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक अभिजीत पति ने कहा कि चुनौती की इस घड़ी में हम सभी को एकजुट होकर अपने परिवारजनों और जरूरतमंद नागरिकों को सुरक्षित बनाए रखने की दिशा में काम करने की आवश्यकता है। बालको द्वारा अपने प्रचालन क्षेत्रों में लगातार जागरूकता अभियान संचालित किए जा रहे हैं। सामुदायिक विकास परियोजनाओं के जरिए स्वास्थ्य के साथ ही आजीविका के अवसर जरूरतमंदों को उपलब्ध कराए जा रहे हैं। जरूरतमंदों को हरसंभव चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के लिए बालको प्रबंधन कटिबद्ध है। श्री पति ने नागरिकों को उत्तम स्वास्थ्य और उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दीं।


बालको ने ‘आरोग्य परियोजना’ के जरिए लगभग 22000 ग्रामीणों को विभिन्न प्रकार की चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराई हैं। चुईया और परसाभाठा के वेदांता ग्रामीण चिकित्सालयों के जरिए आसपास के हजारों नागरिकों को मदद मिल रही है। जरूरतमंदों को निःशुल्क दवाइयां दी जा रही हैं। उन्हें कोविड से बचाव की दिशा में चिकित्सा दल सुरक्षात्मक उपायों के साथ ही टीकाकरण संबंधी जानकारी दे रहे हैं। जागरूकता के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में ध्वनि विस्तारक माध्यमों का प्रयोग किया जा रहा है। आसपास के 30 क्षेत्रों में लगातार सैनिटाइजेशन किया जा रहा है।

कोरोना काल में बालको के सैनिटाइजेशन अभियान का ही नतीजा रहा कि ग्राम दोंदरो के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को लगातार संक्रमण मुक्त बनाए रखने में मदद मिली। यहां भर्ती ग्राम बेला की कोरोना पॉजिटिव्ह फूल कुंवर ने स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की मदद से सुरक्षित रूप से स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया। फूल कुंवर के परिवारजनों के अलावा सामाजिक कार्यकर्ता सिलवंती बरूआ ने ग्रामीण क्षेत्रों में बालको के सैनिटाइजेशन और जागरूकता अभियान की प्रशंसा की। सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी कविता डिक्सेना ने कोविड दिशानिर्देशों के अनुरूप बालको द्वारा दोंदरों स्वास्थ्य केंद्र के सैनिटाइजेशन को सराहनीय बताया।

बालको ने अपने संयंत्र तथा आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों के 14000 परिवारों को सैनिटाइजेशन किट उपलब्ध कराए। इससे लगभग 40 हजार नागरिक लाभान्वित हुए। प्रत्येक किट में दोहरे स्तरों वाले पांच मास्क, सैनिटाइजर और साबुन मौजूद है। विभिन्न महिला स्वयं सहायता समूहों की 125 महिलाओं ने परियोजना उन्नति के अंतर्गत 70 हजार मास्क तैयार कर आय प्राप्त किया। उन्नति फ्रेश परियोजना के जरिए किसानों को सब्जियां और दूसरे कृषि उत्पाद सीधे ग्राहकों तक पहुंचाने में मदद मिली। अब तक लगभग 3 टन सब्जियां, 1 टन फल और 500 किलोग्राम अनाज की आपूर्ति ग्राहकों तक हो चुकी है।