लॉकडाउन के दौरान दूसरों राज्यों की अपेक्षा छत्तीसगढ़ के सीएम ने मजदूरों के लिए की पार्यप्त व्यवस्था

लॉकडाउन के दौरान दूसरों राज्यों की अपेक्षा छत्तीसगढ़ के सीएम ने मजदूरों के लिए की पार्यप्त व्यवस्था


नईदिल्ली, रायपुर ।  लॉकडाउन के दौरान सबसे  ज्यादा दिक्कतें दिहाड़ी मजदूरों को हो रही हैं। देश के कई राज्यों में कोरोना की वजह से इन   की हालात ऐसे हो चुकी  हैं कि मजदूर भीख तक मांगने को मजबूर है। वहीँ छत्तीसगढ़ प्रदेश के सीएम भूपेश बघेल की अगुवाई में  मजदूरों के लिए लिए पार्यप्त व्यवस्था किया गया  है। राज्य में  बाहर से आये और प्रदेश के  दिहाड़ी मजदूरों को राशन और उनकी जरुरत की चीजें बांटी जा रही है।  प्रदेश में  मजदूरों के  बैंक अकाउंट में उनके खर्चे के लिए पैसे भी डाले जा रहे है।  

 जयपुर के सोडाला में जहां पर लोग मजदूरी के लिए बैठा करते थे ,वहीं मेहनतकश मजदूर आज भीख मांगने वालों की तरह खाने की तलाश में सड़क किनारे बैठे रहते हैं।  सोडाला से मात्र 5 मिनट की दूरी पर मुख्यमंत्री और राज्यपाल और राज्य के मंत्री-विधायक रहते हैं।  सिर्फ दो वक्त की रोटी के लिए गाड़ियों के पीछे भागते ये मजदूर कहते हैं कि जिंदगी में कभी ऐसा नहीं सोचा था कि ये दिन भी देखना होगा।

आम दिनों में मजदूर इस जगह पर मजदूरी के लिए आते हैं जहां पर इन्हें काम वाले 350 से लेकर रुपये 500 तक के मेहनताना पर लेकर जाते हैं।  मगर आज ये लोग यहां से गुजरने वाली हर गाड़ियों के पीछे दौड़ कर भागते हैं कि कहीं कोई खाना लेकर तो नहीं आया है।  

वहां मौजूद भगवान सहाय ने बताया कि वे बेलदार यानी दिहाड़ी मजदूर हैं. वे घर पर तीन बच्चे और पत्नी को छोड़कर सड़क पर खाने की तलाश में बैठे हैं. उनकी जेब में सूखे हुए ब्रेड के दो टुकड़े हैं. रोज 350 कमा लेते थे और आज सड़क से उठाकर सूखे हुए दो ब्रेड के टुकड़े जेब में रखे हैं कि घर जाकर बच्चों को खिलाऊंगा। 

राजस्थान की गहलोत सरकार का दावा है कि प्रवासी मजदूरों के लिए व्यवस्था की गई है मगर यह व्यवस्था कहां है किसी को पता नहीं है. इंदौर से आने वाला मनोज साहू भी रोज कमाकर खाने वाला मजदूर है।  

 हर किसी की यहां दर्द भरी अपनी कहानी है जिसे सुनकर किसी भी इंसान का दिल दहल जाए।  मगर कोरोना वायरस की ऐसी त्रासदी है कि हर कोई अपनी जान बचाने की फिक्र में है।

वहीँ छत्तीसगढ़ प्रदेश के सीएम भूपेश बघेल की अगुवाई में शासन और प्रशासन द्वारा बेहतर कार्य किया जा रहा है   इस विषय में सीएम भूपेश स्वयं संज्ञान ले रहे है , वे प्रतिदिन कर्मचारियों और अधिकारीयों की बैठके भी ले रहे है। 

chandra shekhar