हमारी खबर से तिलमिलाई महिला अधिकारी ने मकान मालिक को धमकाया, निजी जिंदगी पर उठाए सवाल

हमारी खबर से तिलमिलाई महिला अधिकारी ने मकान मालिक को धमकाया, निजी जिंदगी पर उठाए सवाल

रायपुर. कल बुधवार को नगर निगम की एक महिला अधिकारी के द्वारा राहतपैकेट की गड़बड़ी का मामला 'दैनिक आज की जनधारा' ने प्रमुखतः से उठाया था। इसके बाद निगम प्रबंधन ने इस मुद्दे पर त्वरित कार्यवाही करते हुए महिला अधिकारी अंकिता जनार्दन से पूछताछ की थी। इस घटना के बाद महिला अधिकारी तिलमिलाकर युवती के घर पहुंची और मकान मालिक को धमकाया। साथ ही युवती के निजी जीवन के बारे में प्रश्न उठाए। क्योंकि उस समय युवती घर में नहीं थी। अब बात यह आती है की एक निगम अधिकारी का इस तरह का रवैया कितना घातक हो सकता है।

पहले किया फ़ोन, फिर आ धमकी घर
अंकिता जनार्दन से जब इस मुद्दे पर जनधारा टीम ने बात की थी तो उन्होंने स्पष्टरूप से कहा था की मैं उसे कॉल करूँगी और घर भी जाने की बात कही थी। इसके बाद अंकिता खबर से रुष्ट होकर युवती के घर पहुंची। हालांकि युवती के घर पर ताला लगा था तो मकान मालिक को बुलाकर धमकाया और पूछताछ की साथ ही सख्ती से पूछा की आपकी किराएदार कहाँ जाती है, किसके साथ जाती है। शायद महिला अधिकारी यह भूल गईं की किसी के निजी जीवन मे प्रश्रचिन्ह करना एक अपराध की श्रेणी में आता है।

कार्यशैली पर उठता सवाल
यह घटना निगमकर्मी की कार्यशैली पर सवाल उठाते हैं। एक मामूली से राहतपैकेट के चलते अगर कोई सरकारी महिला अधिकारी किसी की निजी जिंदगी पर सवाल करता है तो यह अधिकारी की मानसिकता को दर्शाता है। इसके साथ ही जोन क्रमांक 5 के सब इंजीनियर ने भी महिला के निजी जीवन पर प्रश्न किया था (जिसकी वॉइस रिकॉर्डिंग) हैं। अपनी लापरवाही का भंडाफोड़ होता देख महिला अधिकारी अंकिता शायद तिलमिला गईं हैं और युवती तथा मकान मालिक को डराने का प्रयास कर रही हैं। इस मामले पर रायपुर स्मार्ट सिटी परियोजना अधिकारी से बात की गई तो उन्होंने कहा की अगर महिला अधिकारी द्वारा इस तरह का बर्ताव हुआ है तो हम निश्चितरूप से इस मामले पर कार्रवाई करेंगे। किसी के निजी जीवन मे हस्तक्षेप करना गलत है।

मकान मालिक से राशन देने की बात का मामला
यह पूरा मामला राहतपैकेट का है। चंगोराभाठा की रहने वाली एक छात्रा ने कमिश्नर से राशन की मांग की थी। जिसके लिए राहतपैकेट को महिला अधिकारी ने खुद रख लिया था। इस बात को जनधारा ने प्रमुखतः से उठाया था, जिससे भड़की महिला अधिकारी ने युवती के घर जाकर जांच पड़ताल की। वहीं रूम को लॉक देखकर प्रश्नचिन्ह लगाया।