राज्यपाल अपनी उपेक्षा से नाखुश हैं, मंत्री चौबे के बयान से हुई पुष्टि, मंत्री मोहम्मद अकबर और रवी​न्द्र चौबे राज्यपाल से मिले, आइएएस सोनमणि बोरा भी मौजूद थे

राज्यपाल अपनी उपेक्षा से नाखुश हैं, मंत्री चौबे के बयान से हुई पुष्टि, मंत्री मोहम्मद अकबर और रवी​न्द्र चौबे राज्यपाल से मिले, आइएएस सोनमणि बोरा भी मौजूद थे

रायपुर. राजभवन में आज मंत्री रवीन्द्र चौबे और मोहम्मद अकबर ने राज्यपाल से मुलाकात की. उनके साथ आइएएस अमृत खलखो और सोनमणि बोरा भी मौजूद थे.

मुलाकात के बाद चौबे ने बताया कि राज्यपाल से टकराव या तल्खी जैसी कोई बात नहीं है। राज्यपाल हमारे संवैधानिक प्रमुख हैं। उनके मुताबिक सरकार-राजभवन के बीच संवाद की प्रक्रिया चलती है। राज्यपाल जो जानकारी मांगेगी, सरकार उपलब्ध कराएगी. समझा जा रहा है कि राज्यपाल इस बात से नाराज हैं कि वे जो जानकारी सरकार से मांग रही हैं, वह कई बार नही दी जाती या फिर टालमटोल किया जाता है. इसकी पुष्टि चौबे का बयान भी करता है कि  राज्यपाल जो जानकारी मांगेगी, सरकार उपलब्ध कराएगी.

बताया जाता है कि राज्यपाल से बात से नाराज थीं कि उन्हें विश्वास में लिए बगैर उनके सचिव आइएएस सोनमणि बोरा को हटा दिया गया साथ ही नई नियुक्ति पर भी कोई राय नही ली गई. खबर है कि पत्रकारों ने जिस तरह आंदोलन किया और उसे खत्म करने का क्रेडिट राज्यपाल को दिया, उससे भी सरकार की भृकुटि तनी हुई है और इसका गुस्सा बोरा पर उतरा कि उन्होंने सरकार के साथ कोआरडिनेशनल नही किया.

बता दें केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर गए सोनमणि बोरा को राजभवन सेक्रेट्री के चार्ज से मुक्त कर दिया गया है। 2002 बैच के आइएएस अमृत कुमार खलखो को बस्तर कमिश्नर पद से हटाकर उन्हें कृषि विभाग के सचिव के साथ-साथ राज्यपाल के सचिव के अतिरिक्त जिम्मेदारी दी गई है। वहीं 2009 बैच के आइएएस केडी कुंजाम को राजभवन के सचिवालय के संयुक्त सचिव का एडिश्नल चार्ज दिया गया है। अभी केडी कुंजाम जीएडी के ज्वाइंट सेेक्रेट्री के साथ-साथ राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग, नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन के संयुक्त सचिव की जिम्मेदारी संभाल रहे थे।