breaking news New

सरदा में प्लांट स्थापना के विरोध में ग्रामीण हुए लामबंद

सरदा में प्लांट स्थापना के विरोध में ग्रामीण हुए लामबंद


8 सितंबर को होने वाली जनसुनवाई स्थगित

क्षेत्र के किसान नेता योगेश तिवारी गांवो में बैठक लेकर, किसानों को कर रहे जागरूक

बेमेतरा,    विधानसभा क्षेत्र के ग्राम सरदा में प्रदूषण युक्त प्लांट स्थापना का किसान लगातार विरोध कर रहे हैं । इस संबंध में क्षेत्र के किसान नेता योगेश तिवारी ने ग्राम सरदा समेत आस-पास के गांव में ग्रामीणों की बैठक लेकर जनसुनवाई का विरोध कर रहे हैं ।  ग्रामीणों के लगातार विरोध के बाद जिला प्रशासन की ओर से 8 सितंबर को ग्राम सरदा में होने वाली जनसुनवाई को स्थगित कर दिया गया है, हालांकि जन सुनवाई कोविड के कारण स्थगित करना बताया गया है । किसान नेता योगेश तिवारी नेे बताया कि बेमेतरा विधानसभा कृषि प्रधान क्षेत्र है । बेमतरा ज़िला बनने के बाद से यहा के किसानों की ओर से लगातार प्रदूषण मुक्त फूड प्रोसेसिंग प्लांट लगाने की मांग की जाती रही । यह प्लांट लगाना तो दूर इसके विपरीत प्रदूषण युक्त प्लांट स्थापना की तैयारी की जा रही है । प्लांट की स्थापना के लिए 8 सितंबर को जन सुनवाई थी लेकिन ग्रामीणों के विरोध के बाद इसे स्थगित कर दिया गया है । 

प्रदूषण युक्त प्लांट से कृषि को होने वाले नुकसान की जानकारी देंगे किसानों को

किसान नेता ने बताया कि शनिवार को ग्राम सरदा, अतरगड़ी और आन्दू में ग्रामीणों की बैठक लेकर जनसुनवाई का विरोध किए जाने की रणनीति बनाई गई थी । बेरला क्षेत्र के विभिन्न गांव में प्रदूषण युक्त प्लांट की स्थापना की तैयारी की जा रही है जो क्षेत्र के कृषि के लिए घातक साबित होगा ।  किसान नेता ने बताया कि सरदा समेत आसपास के 20 गांव में दौरा कर किसानों को प्रदूषण युक्त प्लाट से होने वाले नुकसान की जानकारी देने के साथ उन्हें जागरूक किया जाएगा । 

क्षेत्र में प्रदूषण युक्त प्लांट स्थापना को लेकर किसानों में खासी नाराजगी

 किसान नेता ने बताया कि क्षेत्र में लंबे समय से फूड प्रोसेसिंग प्लांट के स्थापना की मांग की जा रही है ।  इसके विपरीत सरकार की ओर से क्षेत्र में प्रदूषण युक्त प्लांट की स्थापना की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने को लेकर किसानों में खासी नाराजगी है । प्रदेश सरकार को करीब ढाई साल हो चुके हैं, क्षेत्र में शुगर मिल समेत फूड प्रोसेसिंग प्लांट स्थापना की घोषणा की गई थी । बावजूद इस घोषणा को अमल में लाने को लेकर अब तक कोई सार्थक कदम नहीं उठाए गए है जबकि कृषि कार्य को बर्बाद करने वाले उद्योगों की स्थापना में राज्य सरकार की तेजी से उनकी मंशा पर सवाल खड़े हो रहे हैं ।


नेवनारा में प्लांट की स्थापना की अनुमति नहीं दिए जाने का प्रस्ताव पारित

 बीते दिनों किसान नेता योगेश तिवारी के नेतृत्व में ग्राम नेवनारा के ग्रामीणों ने गांव में स्टील व पावर प्लांट स्थापना के विरोध में बेमेतरा कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा था । इस संबंध में 15 अगस्त को ग्राम सभा की बैठक बुलाई गई थी ।  जहां ग्रामीणों ने एक स्वर में प्लांट स्थापना की अनुमति नहीं दिए जाने का प्रस्ताव पारित किया ।  योगेश तिवारी ने बताया कि किसानों की फूड प्रोसेसिंग प्लांट लगाने की मांग को दरकिनार कर क्षेत्र में स्टील और पावर प्लांट स्थापना को लेकर उद्योगपति सक्रिय हुए हैं । इससे किसानों में खासी नाराजगी है, क्योंकि कृषि प्रधान जिले में कृषि संबंधित उद्योगों की स्थापना को गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है । बैठक में प्रमुख लोगों में डां डॉक्टर मारकण्डेय हाँ उपसरपंच नरेश  कुमार साहु रधवीर साहु भरत दास कौसले  बंजारे बंजारे दास ईसवरी साहु बलराज कौसले भार कौसले हाँ इतवारी साहू ललित कुमार साहू कन्हैया साहू लाला राम साहू मुकेश कुमार साहू भक्तपुर राम साहू पुनिय राम साहू राम विलास राहू हेम सिंह साहू रामकुमार साहू तो राम साहू ए के जुहू राम साहू सीलु कुमार साहू अरुण साहू डोमार मार साहूश्रीराम साहू बंसी यादव राम कुमार प्रीतम कुमार राम चंद्र पंच रमेश टंडन इसवरी यादव उद्यो राम साहू रुपेश साहू शिव नाथ साहू हरीश यादव उन्होंने इन ख़ान महादेव चंद्राकर अरे इस मार्कंडेय राजेश साहू  

कोमल पांल सहित प्रमुख लोग उपस्थित थे