breaking news New

‘आत्‍मनिर्भर भारत’ के लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में एक बड़ी पहल

‘आत्‍मनिर्भर भारत’ के लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में एक बड़ी पहल

नयी दिल्ली।  रक्षा मंत्रालय ने सेना के लिए करीब पांच हजार टैंक रोधी निर्देशित मिसाइलों की खरीद के वास्ते सार्वजनिक क्षेत्र के रक्षा उपक्रम भारत डायनामिक्स लिमिटेड (बीडीएल) के साथ 1188 करोड रूपये की लागत वाले एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किये हैं।
मंत्रालय की अधिग्रहण शाखा ने शुक्रवार को बीडीएल से भारतीय सेना को 4,960 मिलान-2टी टैंक रोधी निर्देशित मिसाइल (एटीएमएम) की आपूर्ति के लिए इस अनुबंध पर हस्ताक्षर किये। इससे सरकार की 'मेक इन इंडिया' पहल को और बढ़ावा मिलेगा। यह अनुबंध का ‘रिपीट ऑर्डर’ है, जिस पर बीडीएल के साथ 08 मार्च 2016 को हस्ताक्षर किए गए थे।
मिलान-2 टी मिसाइल 1850 मीटर तक मार करने में सक्षम है जिसे बीडीएल फ्रांस के एमबीडीए मिसाइल सिस्टम के लाइसेंस के तहत बना रही है। इन मिसाइलों को जमीन से और वाहन-आधारित लांचर से दागा जा सकता है। इसका इस्तेमाल हमले एवं रक्षात्मक दोनों मामलों में किया जा सकता है। इन मिसाइलों के चलते सशस्त्र बलों की क्षमता बढेती और अगले तीन वर्षों में इनकी आपूर्ति पूरी हो जायेगी तथा ये सेना के हथियारों के जखीरे का हिस्सा बन जायेगी।
यह परियोजना रक्षा उद्योग के लिए क्षमता दिखाने का एक बड़ा अवसर है और यह रक्षा क्षेत्र में भी ‘आत्‍मनिर्भर भारत’ के लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में एक बड़ी पहल होगी।