breaking news New

कम्प्यूटर ऑपरेटर संघ दो सूत्रीय मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरना शुरू, 12 माह काम कराके 9 माह का वेतन शासन दे रहा

 कम्प्यूटर ऑपरेटर संघ दो सूत्रीय मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरना शुरू, 12 माह काम कराके 9 माह का वेतन शासन दे रहा

रायपुर। समर्थन मूल्य धान खरीदी के कम्प्यूटरीकण वर्ष 2007 से शासन के आदेश पर 6 माह के लिए डाटा एन्ट्री आपरेटर की संविदा के आधार पर 6 माह के लिए नियुक्ति की गई  थी। 15 सालों से काम कर रहे आपरेटर आज भी पूरे 12 माह काम करते हैं किंतु उन्हें वेतन सिर्फ 9 महीने का मिलता है। उक्त जानकारी प्रेसक्लब रायपुर में आयोजित पत्रकारवार्ता में राज्य समर्थन मूल्य धान खरीदी कम्प्यूटर ऑपरेटर संघ के अध्यक्ष संतोष साहू ने दी। 

साहू ने पत्रकारवार्ता में बताया कि संघ की दो सूत्रीय मांगों को लेकर विगत अक्टूबर माह में भी शासन के जिम्मेदारों को ज्ञापन सौंपा गया था। बावजूद इसके अभी तक कार्यवाही नहीं हुई है।

उन्होंने बताया कि दो सूत्रीय मांगों के तहत धान उपार्जन केन्द्रों में कार्यरत डाटा एन्ट्री ऑपरेटरों का मानदेय 9 माह से बढ़ाकर 12 माह संविदा वेतनमान के आधार पर दिया जाए एवं नियुक्ति दिनांक से ही वरिष्ठ कर्मचारी माना जाए। अल्प मानदेय के कारण कम्प्यूटर ऑपरेटरों का घर खर्च चलाना मुश्किल हो गया है।

उन्होंने बताया कि अपै्रल माह से लेकर सितंबर माह तक धान खरीदी केन्द्र का कार्य ही आपरेटर करते हैं। उसके बाद नगद खाद वितरण का ऑन लाईन एन्ट्री करना, गोधन न्याय योजना के तहत ऑनलाईन वर्मी कम्पोस्ट का वितरण, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, एकीकृत किसान पंजीयन के तहत सभी किसानों का पंजीकरण करना एवं ब्याज अनुदान योजना सहित अनेक कार्य संपादित करते हैं।

शासन के जिम्मेदार उन्हें अपना कर्मचारी मानने से इंकार करते हैं। जिसकी वजह से आपरेटरों को मानसिक तनाव झेलना पड़ा रहा है।