breaking news New

कोरोना महामारी से पूरा देश परेशान, सैनिटाइजर लगा कर दीपक तथा पटाखा न जलायें

कोरोना महामारी से पूरा देश परेशान, सैनिटाइजर लगा कर दीपक तथा पटाखा न जलायें

पेट्रोल और डीजल की तरह ही बेहद ज्वलनशील होता है सैनिटाइजर

बस्ती।  उत्तर प्रदेश में बस्ती के वरिष्ठ चिकित्सक डाॅ0 रमेश चन्द्र श्रीवास्तव ने दीपावली की बधाई देते हुए शुक्रवार को कहा है कि कोरोना महामारी से पूरा देश परेशान है हमँ पूरी तरह से सर्तक रहने की जरूरत है। सैनिटाइजर लगाकर दीपक तथा पटाखे जलाने से परहेज रखें नही तो बड़ी घटना हो सकती है। बच्चो पर विशेष रूप से ध्यान देने की आवश्यकता है।

डॉ0 श्रीवास्तव ने शुक्रवार यहां कहा कि पर्यावरण के सतुंलन को बनाये रखने के लिए हमें पटाखों का उपयोग नही करना चाहिए। वर्तमान समय मे कोरोना नामक बीमारी से बचने के लिए लोग सैनिटाइजर लगाते रहते है। ऐसे में वे दीपक जलाने या पटाखे जलाने से परहेज रखें। सैनिटाइजर में 70 प्रतिशत एल्कोहल होने के कारण यह तीव्र ज्वलनशील भी है इससे आग लगने का खतरा रहेगा और बड़ी घटना हो सकती है।

उन्होंने कहा कि दीपक जलाते वक्त, पटाखे चलाते वक्त तथा आग के नजदीक जाते वक्त सैनिटाइजर का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। कोविड-19 से बचाव के लिए इन दिनों सभी उपायों को अपना रहे हैं। इसमें मास्क पहनना, शारीरिक दूरी का पालन करना और हाथों को साबुन-पानी या सैनिटाइजर से साफ करना शामिल है।

डॉ श्रीवास्तव ने कहा कि इस बार त्यौहार में किसी तरह का खलल न पड़े, इसके लिए जागरूक और सुरक्षित रहना जरूरी है। भगवान की आरती करनी हो, मंदिर में मोमबत्ती या दीया जलाना हो, रसोई में काम करना हो तो सैनिटाइजर का इस्तेमाल बिल्कुल भी न करें। इतना ही नहीं सैनिटाइजर को आग से दूर ही रखें। यह पेट्रोल और डीजल की तरह ही बेहद ज्वलनशील होता है।