breaking news New

भाजपा में संगठन स्तर पर हुआ बड़ा फेर बदल

भाजपा में संगठन स्तर पर हुआ बड़ा फेर बदल

नई दिल्ली।  भाजपा में संगठन स्तर पर व्यापक फेरबदल हुआ है। पार्टी ने दो संयुक्त संगठन महासचिव को पुरानी जिम्मेदारी से मुक्त कर पार्टी का हिस्सा बना लिया है। जबकि एक अन्य महासचिव की लखनऊ की जगह चंडीगढ़ स्थानांतरित कर दिया है। दो संयुक्त संगठन महासचिव में से एक को संगठक और राष्टï्रीय उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई है। भविष्य में पार्टी संगठन महासचिव बीएल संतोष के सहायक के तौर पर दो संयुक्त संगठन महासचिव की नियुक्ति करेगी।

बृहस्पतिवार को पार्टी ने अब तक संयुक्त संगठन महासचिव के पद पर कार्य कर रहे सौदान सिंह को राष्टï्रीय उपाध्यक्ष बनाया तो वी. सतीश को संगठक पद की जिम्मेदारी दी है। शिवप्रकाश संयुक्त संगठन महासचिव का पद बरकरार रखने में कामयाब रहे मगर उनके कार्यक्षेत्र में बड़ा बदलाव किया गया। पहले लखनऊ प्रांत की जिम्मेदारी संभालने वाले शिवप्रकाश का कार्यक्षेत्र अब चंडीगढ़ होगा।

दो नए संयुक्त संगठन महासचिव की नियुक्ति जल्द

दरअसल भाजपा में संगठन मंत्री की जिम्मेदारी संघ के प्रचारकों को दी जाती है। वी सतीश और सौदान सिंह अब क्रमश: संगठक और राष्टï्रीय उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी मिलने के बाद पार्टी का हिस्सा बन गए हैं। ऐसे में संगठन महासचिव बीएल संतोष की मदद के लिए सौदान और सतीश की जगह नई नियुक्ति की जाएगी।

संघ से लंबे विमर्श के बाद हुआ फैसला

चूंकि संगठन महासचिव और संयुक्त संगठन महासचिव का पद संघ के प्रचारक को मिलता है। इसमें संघ अपनी पसंद के व्यक्ति को इस पद के लिए पार्टी में भेजता है। इसलिए दो संयुक्त संगठन महासचिव को उनके पद से हटाने और नई जिम्मेदारी देने के लिए संघ और भाजपा के बीच लंबा विमर्श हुआ। वैसे बीते साल ही सौदान सिंह और वी सतीश को संगठन से जुड़े कामकाज से मुक्त करने पर मंथन शुरू हुआ था। सूत्र बताते हैं कि तीनों सह संगठन महासचिवों के बीच कई स्तर पर मतभेद के बाद इस आशय का फैसला किया गया।

संघ जल्द सुझाएगा दो नए प्रचारक का  नाम

भाजपा में संगठन महासचिव और संयुक्त महासचिव के पद की जिम्मेदारी संघ के प्रचारक संभालते हैं। भाजपा संघ से इन पदोंं के लिए नाम मांगती है। अब चूंकि दो प्रचारक पार्टी का हिस्सा बन गए हैं। ऐसे में अब संघ खाली पड़े दो संयुक्त संगठन का नाम भाजपा के पास भेजेगी। संघ सूत्रों के मुताबिक इनमें से एक नाम वरिष्ठï प्रचारक सुनील अंबेकर का हो सकता है।