breaking news New

जवान की रिहाई के बदले किसी नक्सली को नहीं छोड़ा गया - सुंदरराज पी.

जवान की रिहाई के बदले किसी नक्सली को नहीं छोड़ा गया - सुंदरराज पी.

जगदलपुर । बस्तर आईजी सुंदरराज पी. ने कहा कि कुछ मीडिया एवं सोशल मीडिया में अपहृत आरक्षक राकेश्वर सिंह मन्हास की रिहाई के बदले में माओवादी को छोड़े जाने की खबर प्रसारित हो रही है। तत्सम्बन्ध में वास्तविकता यह है कि 03 अप्रैल 2021 को थाना तर्रेम के टेकलगुडेम में हुई मुठभेड़ के पश्चात घायल जवानों को कुछ ग्रामीण वापस कैम्प तक सुरक्षित लेकर आये थे। ग्रामीण सुखा कुंजाम जिसके संबंध में मीडिया एवं सोशल मीडिया में जिक्र की गई। संभवत: उनमें से ग्रामीण जिन्होंने पुलिस के साथ कैम्प आकर वापस अपने गांव तक सही सलामत चले गये होंगे। तत्संबंध में और विस्तृत जानकारी की तस्दीक की जा रही है। आज दिनांक तक टेकलगुडेम मुठभेड़ के प्रकरण में किसी की भी गिरफ्तारी नही की गई है और ना ही अपहृत जवान के बदले में किसी माओवादी को छोड़ा गया।
     बीजापुर जिले के थाना तर्रेम अंतर्गत टेकलागुड़ेम के जंगल मे 03 अप्रैल 2021 को हुई मुठभेड़ पश्चात कोबरा 210 वीं वाहिनी के जवान राकेश्वर सिंह मन्हास 08 अप्रैल 2021 को सही सलामत वापस कैम्प लौटा। अपहृत आरक्षक राकेश्वर सिंह मन्हास की रिहाई में जिला बस्तर एवं जिला बीजापुर के वरिष्ठ सामाजिक सेवीगण/पत्रकार साथियों का महत्वपूर्ण योगदान रहा।