breaking news New

किसान नेता योगेश तिवारी के नेतृत्व में हितग्राहियों ने कलेक्टर परिसर में किया प्रदर्शन, जमकर की नारेबाजी

किसान नेता योगेश तिवारी के नेतृत्व में हितग्राहियों ने कलेक्टर परिसर में किया प्रदर्शन, जमकर की नारेबाजी


बेमेतरा,  विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत ग्राम बेरलाकला में सरकारी राशन दुकान सेल्समैन व समूह प्रमुख की मनमानी और अनियमितता के विरोध में ग्रामीणों ने कलेक्टर भोसकर विलास संदीपान को ज्ञापन सौंपा ।  करीब 100 से अधिक पुरुष और महिला, किसान नेता योगेश तिवारी के नेतृत्व में कलेक्टोरेट पहुंचे थे । यहां ग्रामीणों ने राशन दुकान प्रमुखों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और कलेक्टर से समूह को हटाने की मांग रखी । किसान नेता योगेेश तिवारी ने बताया कि दुकान के सेल्समैन के द्वारा शासन से निर्धारित दर से अधिक मूल्य पर सामग्री बेची जा रही है । दुकान के बाहर सामान की मूल्य सूची अंकित नहीं किया गया है । सामग्री आने पर सरपंच एवं निगरानी समिति को जानकारी नहीं दी जाती है । इसके अलावा ग्रामीणों ने सेल्समैन पर अनियमितता बरतने के आरोप लगाए हैं । इसलिए ग्रामीणों ने समूह को हटाने की मांग की है । 

माह में सिर्फ 4 दिन दुकान खोलने से, दर्जनों हितग्राही राशन हो रहे वंचित

सरपंच जहोतरी निषाद ने बताया कि राशन दुकान सेल्समैन की मनमानी से ग्रामीण परेशान है । माह में सिर्फ 4 दिन राशन दुकान खोलकर सामग्री वितरण किया जाता है । शेष दिनों में दुकान बंद होने के कारण दर्जनों ग्रामीण राशन से वंचित हो जा रहे हैं । वही दुकान खोलने की तारीख और समय निर्धारित नहीं होने के कारण हितग्राहियों को जानकारी नहीं मिल पाती और वे राशन से वंचित हो जाते हैं । अगले महीने राशन लेने पहुंचने पर सेल्समैन के द्वारा सामग्री देने से साफ मना कर दिया जाता है और राशन कार्ड में प्राप्ति लिख दी जाती है । इस तरह दुकान सेल्समैन और समूह प्रमुखों द्वारा बड़े पैमाने पर गड़बड़ी की जा रही है । 

शासन से निर्धारित दर से अधिक मूल्य पर बेची जा रही सामग्री

हितग्राहियों ने बताया कि सेल्समैन द्वारा शासन से निर्धारित दर से अधिक मूल्य पर सामग्री का वितरण किया जा रहा है जिसमें प्रति किलो शक्कर का 20 रुपए व केरोसिन 46 रुपए लीटर बेचा जा रहा है ।  जबकि शक्कर का निर्धारित दर 17 रुपए प्रति किलो व केरोसिन 40 रुपए प्रति लीटर है । बार-बार शिकायत करने के बावजूद सेल्समैन मनमानी करने पर उतारू है । विरोध करने पर सामग्री देने से साफ मना कर देता है । कोई केरोसिन एक लीटर की बजाए आधा लीटर दिया जाता है ।  सरपंच एवं निगरानी समिति से सम्बंधित दस्तावेजों में हस्ताक्षर नहीं कराए जाता है ।

इन हितग्राहियों ने कलेक्टर से शिकायत कर, की कार्रवाई की मांग

संरपच जोहतरी निषाद, गोवर्धन साहू, लाभु राम निषाद, राजेंद्र साहू, देव लखन, चक्रधारी सिंह निषाद,  बुद्धि राम निषाद, माखन चौहान, परम आनंद निषाद, डोमार साहू, संदीप साहू, रामजी निषाद, बहल निषाद, याद राम निषाद, मनोज साहू, राम नारायण निषाद, योगेंद्र साहू, भागवत, दिलेश्वर साहू, रामाधार साहू, मंगलू राम साहू, राजकुमार साहू, राजाराम साहू, गेंद लाल निषाद, सेवा राम निषाद, कैलाश साहू, उदय राम साहू, संत राम निषाद, गोविंद साहू, हरीश साहू, साधु राम साहू, पुनीत राम साहू, पप्पू साहू, दुधारू राम साहू, रामकुमार साहू, भुरू राम साहू, डागेश्वर साहू, मानस साहू, राम नारायण पांडे, सुकिता साहू, फगनी साहू,  सुकवारो साहू, दसरित साहू, तारिणी निषाद, केसर साहू, दसोदा निषाद, ममता साहू, दीना निषाद, सविता साहू, दिलेश्वरी साहू, पुनिया साहू, तुलसा साहू, कुमारी निषाद, खेम बाई निषाद, माधुरी निषाद, गणेशी साहू,  उमा साहू, उर्मिला साहू, देवकी साहू, अंजू साहू, टिकेश्वर साहू, मनीषा साहू, रानी साहू, जसोदा साहू, दशरीथ निषाद, भानबती निषाद, राजेश्वरी आदि उपस्थित थे ।