breaking news New

दूरबीन विधि से क्षतिग्रस्त भाग का सर्जिकल उपचार

दूरबीन विधि से क्षतिग्रस्त भाग का सर्जिकल उपचार

क्षतिग्रस्त अंगों के पुनर्निर्माण की आधुनिक प्रक्रिया पर संगोष्ठी सम्पन्न

प्रयागराज । इलाहाबाद मेडिकल एसोसिएशन के सभागार में रविवार को माइक्रो वैसकुलर सर्जरी पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें डॉ. मोहित जैन ने प्लास्टिक सर्जरी द्वारा कैंसर व आकस्मिक दुर्घटना से क्षतिग्रस्त अंगों के पुनर्निर्माण की आधुनिक प्रक्रिया से अवगत कराया।

ए.एम.ए. अध्यक्ष डॉ. एम.के मदनानी की अध्यक्षता में आयोजित संगोष्ठी में डॉ मोहित जैन ने बताया कि दूरबीन विधि द्वारा शरीर के अन्य भाग से मांस उठाकर क्षतिग्रस्त भाग का सर्जिकल उपचार सफलता पूर्वक किया जा सकता है। जिससे रोगी भविष्य में चिकित्सा के बाद अपना कार्य पूर्व की भांति सुचारू रूप से कर सकता है।

डॉ. पल्लवी निगम ने अत्याधुनिक कैंसर की जांच की मशीन फ्रोजन सेक्शन के बारे में बताया। कहा कि यह मशीन बहुत कम समय में आपरेशन के उपरान्त ही कैंसर की जांच कर लेता है। यह मशीन हाल में ही मोहक हास्पिटल में लगी है। जिससे कैंसर के मरीजों के इलाज में महत्वपूर्ण भूमिका मिल रही है और रोगी को शीघ्र लाभ हो रहा है।

डॉ. राजुल अभिषेक ने दूरबीन विधि द्वारा पेट में होने वाले कैंसर के आपरेशन के बारे में जानकारी दी और दूरबीन विधि द्वारा मोहक हास्पिटल में कैंसर के होने वाले आपरेशन से होने वाले मरीजो के लाभ के बारे में जानकारी दी। इस विधि से आपरेशन होने पर मरीज जल्द स्वस्थ हो जाता है। जिससे आगे होने वाले इलाज कीमोथेरेपी व रेडियोथेरेपी जल्द शुरू की जा सकती है।

संगोष्ठी के चेयरपर्सन डॉ. वल्सला मिश्रा, डॉ. सपन श्रीवास्तव तथा डॉ. संजय तिवारी थे। जिन्हे एएमए अध्यक्ष ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। एएमए के वैज्ञानिक सचिव डॉ आशुतोष गुप्ता ने संगोष्ठी का संचालन तथा सचिव डॉ. राजेश मौर्या ने धन्यवाद ज्ञापन किया। संगोष्ठी में डॉ. अशोक अग्रवाल, डॉ.आरकेएस चौहान, डॉ. आरके गुप्ता, डॉ. रोहित गुप्ता, डॉ. कमल सिंह, डॉ. सुबोध जैन, डॉ. जीएस सिन्हा, डॉ. सुजीत सिंह, डॉ. युगान्तर पाण्डेय, डॉ. अनूप चौहान, डॉ. संतोष सिंह, डॉ. अभिनव अग्रवाल, डॉ. उत्सव सिंह आदि उपस्थित थे।