breaking news New

सुर- साधना ने प्रस्तुत की दिल की आवाज..

सुर- साधना ने प्रस्तुत की दिल की आवाज..


दर्शकों ने छत्तीसगढ़ी, बॉलीवुड, भोजपुरी गानों का लिया आनंद

रायपुर, 23 मार्च। सुर-साधना म्यूजिकल ग्रुप द्वारा रविवार की शाम व्हाइट हाउस के सामने नगर निगम गार्डन में कार्यक्रम ‘दिल की आवाज..’ प्रस्तुत किया गया. सुबह बदली का मौसम रहा और दोपहर के बाद धूप खिली और शाम को लोग बड़ी संख्या में इस कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंस का पालन करते, मास्क लगाकर कार्यक्रम देखने परिवार सहित पहुंचे थे. ग्रुप के संचालक साहिल पाठक ने बताया कि इस कार्यक्रम में गीतों के माध्यम से होली को सेलिब्रेट किया गया. इस मौके पर छत्तीसगढ़ी, भोजपुरी के अलावा बॉलीवुड गानों की बेहतरीन प्रस्तुतियां दी गई. 

इन गायकों ने दी प्रस्तुति-  कार्यक्रम में साहिल पाठक, मनीषा लोगानी नटाल, कैलाश छाबड़ा, वीरेंद्र राई, महेंद्र साहू, अनुराग ठाकुर, शैलेन्द्र सिकरवार, पंकज राठौर, नीरज पांडेय, पिंकी साहू, कविता वाटे, प्रवीण यदु (पप्पू भाई), विक्रम राणा, गोल्डन साहू, राज वर्मा, कृष्ण कुमार ब्राह्मणकर आदि. 

इन गीतों की हुई प्रस्तुति- 1. काश तुम मुझसे एक...,  तुझे ना देखूं तो चैन, मुझे आता नहीं है.., 

झंकारों झंकारों झंकारों.., वादा रहा सनम...,आँख है भरी भरी और तुम...,चुरा के दिल मेरा गोरिया चली.., वादियाँ मेरा दामन..,धीरे धीरे प्यार को बढ़ाना है..,मैनु इश्क दा लगिया रोग..,रंग बरसे भीगे चुनरवाली...,गाता रहे मेरा दिल.., तेरी निगाहों पे मर मर गए हम.., दुनियां में कितना गम है.., दिल की आवाज भी सुन.., ये समां, समां है ये प्यार का.. फूल झरे हांसी..,मधुबन खुश्बू देता है.., होली के दिन...,  आपके  अनुरोध पे.., लेकर हम दीवाना दिल.., जोगी जी धीरे - धीरे..,अखियां लड़ल बा जबसे..(भोजपुरी),अब तेरे बिन जी लेंगे हम...आदि.