breaking news New

केंद्र की भाजपा सरकार कर रही मजदूरों का शोषण - इंटक

केंद्र की भाजपा सरकार कर रही मजदूरों का शोषण - इंटक


झारखंड में इंटक का राष्ट्रीय अधिवेशन आयोजित

कोरिया । राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस (INTUC)  प्रदेशाध्यक्ष दीपक दुबे ने बताया का इंटक के एक दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन रांची रोड स्थित जिमखाना क्लब में हुआ साथ ही इसी दौरान राष्ट्रीय प्रतिनिधियों का बैठक किया गया। 

इसमें बतौर मुख्य अतिथि इंटक राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्वमंत्री सांसद  चंद्रशेखर दुबे उर्फ ददई दुबे शामिल हुए विशिष्ट अतिथि के रूप में राष्ट्रीय महासचिव एन.जी.अरुण राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष आर.एन.चौबे, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कालीचरण यादव, झारखंड प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप बालमुचू, राज्यसभा सांसद धीरज प्रसाद साहू, इंटक के राष्ट्रीय संयोजक फुरकान अंसारी उपस्थित थे। 

 अधिवेशन में छत्तीसगढ़ से इंटक प्रदेश महामंत्री रजनीश सेठ,असंगठित इंटक अध्यक्ष संजु तिवारी,युवा इंटक अध्यक्ष चन्द्रेश सिंह इंटक प्रदेश उपाध्यक्ष द्वय टिकेंद्र सिंह,कमल किशोर साव,विजय तायल, दीपक श्रीवास्तव, सौरभ शर्मा प्रदेश सचिव द्वय दिलेश्वर साहू जिला पंचायत सदस्य,संतोष यादव,दिनेश यादव,सुनील कंहारे, देवानंद वर्मा, कुशल पटेल,मोहन दास महंत,दिनेश बंजारे महिला इंटक उपाध्यक्ष समीना खातून,नीरा साहू, सुनीता बरेठ,नीरा साहू,उर्मिला कुशवाहा,सहित भारी संख्या में जिला एवं प्रदेश पदाधिकारी शामिल हुए !

राष्ट्रीय अधिवेशन में राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार पूँजी पतियों की कठपुतली बनकर कार्य कर रही है। इस कारण पूरे देश में मजदूरों का शोषण बढ़ा है । भाजपा सरकार तमाम कानून उद्योगपति के लिए बना रही है। इसमें मजदूर ही तो कर दो मन हो रहा है। इसे इंटक किसी भी कीमत पर बर्दास्त नही करेगी। सरकार की दमनकारी नीतियों से मुक्ति दिलाने के लिए मजदूर को देश भर में एकजुट किया जाएगा।

इसके लिए इंटक कार्यकर्ताओं को एक जुट होना जरूरी है। तभी मजदूर हितों की लड़ाई मजबूती से लड़ी जा सकेगी। कहा कि, जिस प्रकार सरकार को बाध्य ऊपर तीनों कृषि कानून वापस लेना पड़ा है, उद्योगपति को फायदा पहुंचाने वाले कानून भी वापस लेना पड़ेगा। 

इसके लिए इंटक की अगुवाई में देशभर में आंदोलन होगा। साथ ही विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत मजदूर की समस्या उठाने की बात कही राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री दुबे ने छत्तीसगढ़ से पहुचें श्रमिक नेताओं से मुलाकात कर फरवरी में आने की सहमति दिए जिसमें प्रदेश स्तर पर इंटक की श्रमिक सम्मेलन में भाग लेंगे !