मालखरौदाः दर्रा भाटा में एसडीएम के स्थगन आदेश के बाद भी सरपंच ने खड़ी फसल पर जेसीबी चलवाया, पूरी फसल बर्बाद

मालखरौदाः दर्रा भाटा में एसडीएम के स्थगन आदेश के बाद भी सरपंच ने खड़ी फसल पर जेसीबी चलवाया, पूरी फसल बर्बाद

सक्ती, 15 सितंबर। मालखरौदा तहसील अंतर्गत ग्राम पंचायत दर्रा भाटा में एसडीएम  के स्थगन आदेश के बाद भी सरपंच द्वारा खड़ी फसल पर जेसीबी चलाकर पूरी फसल को बर्बाद कर दिया गया।  ग्राम पंचायत दर्रा भांठा में तहसीलदार मालखरौदा के द्वारा बेजा कब्जा हटाओ अभियान के तहत शासकीय जमीनों को खाली कराने के लिए तहसीलदार मालखरौदा का निर्देश जारी किया गया था जिस पर प्रार्थी सुरेश कुमार पिता रेवा लाल के द्वारा अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सक्ती से फसल काटते तक का समय मांगा गया था जिस पर अनु विभागीय अधिकारी के द्वारा दिनांक 30 सात 2020 को  स्थगन आदेश जारी किया गया था,परंतु सरपंच अपनी दबंगई दिखाते 15 सितम्बर  को सुरेश कुमार पिता  रेवा लाल के खेत में ग्रामीणों को लेकर जेसीबी के माध्यम से खेत में लगी हुई फसल को पूरा बर्बाद कर दिया और कीटनाशक दवाई का छिड़काव कर दिया ताकि पूरी फसल बर्बाद हो जाए।


 सरपंच द्वारा जब बेजा कब्जा हटाया जा रहा था उस वक्त प्रार्थी के द्वारा स्थगन आदेश दिखाया गया परंतु उसके स्थगन आदेश को सरपंच द्वारा दरकिनार करते हुए भी जेसीबी चलाया जा रहा था जिस पर प्रार्थी द्वारा मालखरौदा तहसीलदार को इसकी सूचना दी सूचना पाते ही मालखरौदा तहसीलदार मौके पर पहुंचे और सरपंच सहित सभी ग्रामीणों को बेजा कब्जा से  फसल काटते तक ना हटाया जाए  कहा गया और उन्हें समझाइश देते हुए कहा गया कि प्रार्थी के पास स्थगन आदेश है, परंतु उनका इस कहने को भी ग्रामवासी एवं सरपंच द्वारा नहीं माना गया जिस पर भारी संख्या में भीड़ होने के कारण मालखरौदा तहसीलदार मौके से चले गए  और पूरी घटना की जानकारी अपने उच्चाधिकारियों को दी गई सरपंच द्वारा पूरी खड़ी फसल को जेसीबी के माध्यम से बर्बाद कर दिया इस बात को लेकर प्रार्थी सुरेश पिता  रेवा लाल के द्वारा अनुविभागीय अधिकारी बी एस मरकाम शक्ति के समक्ष पहुंचकर स्थगन आदेश के साथ 15 सितंबर को आवेदन लगाया जिस पर  अनु विभागीय अधिकारी शक्ति के द्वारा   पेशी दिनांक को कार्यवाही करने का आश्वासन दिया गया प्रार्थी के द्वारा स्थगन आदेश के सहित मालखरौदा थाना में भी कार्रवाई करने के लिए आवेदन प्रस्तुत किया गया है वही सरपंच पूरी दबंगई से एसडीएम के स्थगन आदेश के बाद भी फसल को जेसीबी से खराब करने के बाद  मुरूम तत्काल पटवा कर पूर्णता कब्जा करने में लगा हुआ है। 


इस संबंध में मालखरौदा तहसीलदार पांडे के द्वारा बताया गया कि प्रार्थी द्वारा मुझे सूचना दिया गया था मैं मौके पर पहुंचकर सरपंच सहित ग्राम वासियों को समझाया गया कि इसके पास स्थगन आदेश है उसके बाद  भी बात को मानने से इनकार करते हुए भारी भीड़ इकट्ठा हो गई जिस पर स्टाफ और बल की कमी होने कारण हम वहां से वापस लौट गए और  इसकी सूचना मेरे द्वारा अपने उच्च अधिकारियों को दे दी गई है।