breaking news New

कोरोना व डेंगू जैसी बढ़ते बीमारी को देखते हुए जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग हो अलर्ट - परवेज अहमद

कोरोना व डेंगू जैसी बढ़ते बीमारी को देखते हुए जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग हो अलर्ट  - परवेज अहमद

राजनांदगांव । शहर सहित जिले में कोविड-19 की तीसरे लहर को लेकर जिला प्रशासन अलर्ट नहीं है, कोविड-19 की तीसरी लहर की तैयारी को देखते हुए जिला प्रशासन की कोई तैयारी नजर नहीं आ रहा है, जिसका खामियाजा आने वाले समय में लोगों को भुगतना पड़ सकता है, भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा की प्रदेश सदस्य परवेज अहमद पप्पू ने बताया कि महाराष्ट्र और नागपुर में तीसरे लहर के आगमन के चलते करोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है, जिसे लेकर जिला प्रशासन बाघ नदी सहित राजनांदगांव के बॉर्डर को सील करें, और पहले और दूसरे चरण के दौरान कोविड-19 मरीजों के लिए तैयार किए गए अस्पताल को पुनः सुचारू रूप से तैयार किया जाए, अस्पताल में कोरोना मरीजों के लिए बेड, ऑक्सीजन और दवाई भरपूर मात्रा में एकत्र किया जाए जिस प्रकार से शहरों लोगों की भीड़ त्योहारों को लेकर भीड़ उमड़ रहा है, और वही गांवो से लोग शहर आ रहे और आवाजाही कर रहे हैं, इससे अंदाजा लगाया जा सकता है, कि एक भी कोरोना मरीज मिला तो भारी नुकसान का सामना जिला प्रशासन को करना पड़ सकता है। केंद्र सरकार व राज्य सरकार कोविड-19 को लेकर सतर्कता बरतते हुए है लेकिन वहीं जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कोई पहल नहीं किया जा रहा है, करो ना कॉल कि पहले और दूसरे चरण में लोगों की आर्थिक स्थिति वह मानसिक स्थिति बहुत ही ज्यादा खराब हो गया था लेकिन तीसरे चरण को लेकर लोगों के ऊपर कोई प्रभाव नहीं पड़ रहा है, शहर सहित जिलों में आज भी लोग मास्क, सेनीटाइजर व सोशल डिस्टेंसिंग को भूल रहे हैं, कोरोना काल के समय जिला प्रशासन के द्वारा इन्हीं नियमों का पालन करने के लिए लोगों को अवगत कराते थे, लेकिन अब शायद जिला प्रशासन इन सब चीजों को नजर अंदाज करते हुए शहर सहित जिलों में जिस प्रकार से लोगों की भीड़ उमड़ रहा है, उससे अंदाजा लगाया जा सकता है, कि कोरोना की तीसरी लहर आसानी से आ सकता है, आभी भी समय है  कोविड-19 को लेकर जिला प्रशासन स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो जाए तभी संभव है, कोरोना की तीसरी लहर से लड़ा जा सकता है।