breaking news New

1 जुलाई को दोपहर 3 बजे रायपुर के खारून नदी के तट पर सभी बस संचालक जल समाधि लेंगे

1 जुलाई को दोपहर 3 बजे रायपुर के खारून नदी के तट पर सभी बस संचालक जल समाधि लेंगे

इस दरमियान यदि कोई अनहोनी होती है या कोई घटना घटित होती है इसकी जिम्मेदारी केंद्र और राज्य सरकार पर  होगी

रायपुर, 25 जून। वर्तमान में केंद्र सरकार की ओर से डीजल की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि  हो जाने के कारण छत्तीसगढ़ राज्य में समस्त बस संचालकों को यात्री बस सेवा प्रारंभ करने में भारी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है बस संचालक गण बढ़े हुए डीजल के मूल में बस संचालन नहीं कर पा रहे क्योंकि वर्तमान में डीजल का मूल्य एवं बसों के प्रतिदिन का खर्च प्रतिदिन के सकल आय से भी ज्यादा हो चुकी है ऐसी स्थिति में 1 दिन के बस संचालक में भारी आर्थिक नुकसान का अंदेशा है इसके अलावा पिछले 16 माह से कोरोना महामारी के कारण राज्य में बस संचालन की स्थित लगभग नहीं के बराबर है।

बस संचालक पूरी तरह तबाह हो चुके हैं जिसको लेकर आज रायपुर प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रेस वार्ता की गई जिसमें कई मुद्दों को लेकर छत्तीसगढ़ यातायात महासंघ रायपुर द्वारा वार्ता की गई मीडिया से बात करते हुए अनवर अली छत्तीसगढ़ यातायात महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि  प्रदेश यूनियन द्वारा तीन सूत्रीय मांग पत्र प्रस्तुत किया गया जिसमें दलित रुप से निराकरण किया जाना एवं यात्री किराया बढ़ाए जाने बाबत अधिसूचना जारी किया जाना न्याय संगत होगा ताकि छत्तीसगढ़ राज्य में आम जनता को सुविधा के लिए सभी बसें त्वरित रूप से प्रारंभ हो सके । 

उन्होंने बताया कि अगर मांगे पूरी  नहीं होती  तो चरण बंद आंदोलन भी किया जाएगा जिसमें 28 जून 2021 सोमवार को संपूर्ण छत्तीसगढ़ राज्य के जिले के एवं सभी प्रमुख बस स्टैंड में एक दिवसीय शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन कोरोना  प्रोटोकाल के नियम के तहत किया जाएगा शुक्रवार को सभी जिला मुख्यालयों के जिला अध्यक्षों कलेक्टरों को जमा सौंपा जाएगा गुरुवार को पूरे प्रदेश के जिला मुख्यालय में सभी व संचालक अपने परिवार चालक परिचालक हेल्पर के साथ बस में बरात निकालकर सभी जिला अध्यक्षों को ज्ञापन सौंपा जाएगा।