breaking news New

कस्टम मिलिंग नहीं करने पर राधारमन राईस मिल की जांच,112 क्विंटल धान और 35 क्विंटल चांवल की जप्ती

कस्टम मिलिंग नहीं करने पर राधारमन राईस मिल की जांच,112 क्विंटल धान और 35 क्विंटल चांवल की जप्ती

       सक्ती जांजगीर-चांपा।  कलेक्टर  यशवंत कुमार के मार्गनिर्देशन में खाद्य विभाग के अधिकारियों द्वारा राईस मिलर्स की जांच की जा रही है।  कस्टम मिलिंग नहीं करने पर आज खाद्य, परिवहन और राजस्व विभाग की टीम द्वारा सक्ती के राधा रमन राईस मिल की जांच की गई।

 खरीफ विपणन वर्ष 2019 में संग्रहित धान के उठाव में रूचि नहीं लेने एवं अपने कस्टम मिलिंग क्षमता के आधार पर 07 माह पूर्ण कार्य नहीं करने तथा मिलिंग क्षमता का पूर्ण उपयोग न कर कस्टम मिलिंग कार्य में उदासीनता बरतने के कारण जांच की गई। जांच के दौरान 112 क्विंटल धान और 33 क्विंटल चावल की जप्ती की कार्रवाई छत्तीसगढ़ कस्टम मिलिंग चावल उपार्जन आदेश 2016 के प्रावधानों के तहत की गयी। जिला खाद्य अधिकारी ने बताया कि राधा रमन राईस मिल सक्ती को आगामी वर्षों में कस्टम मिलिंग के कार्य से पृथक रखने एवं काली सूची में दर्ज करने का प्रस्ताव भेजा जा रहा है। राधारमन राईस मिल के वाहनों की जांच परिवहन विभाग द्वारा की गई जिसके तहत 2000 रूपये का जुर्माने की  कार्यवाही की गई। राजस्व विभाग, श्रम विभाग और औद्योगिक सुरक्षा विभाग द्वारा भी पृथक-पृथक जांच की कार्रवाई की गई है। जांच दल में सहायक खाद्य अधिकारी  मनोज कुमार त्रिपाठी,  कमल कुमार अग्रवाल, खाद्य निरीक्षक  अजय प्रधान,  जितेंद्र दिनकर एवं विभाग के अधिकारी शामिल थे।