breaking news New

भूपेश भू का नही दिलो का राजा, मुख्यमंत्री नही जनसेवक माटीपुत्र संघर्ष का दूसरा नाम और विकास का पहला

भूपेश भू का नही दिलो का राजा, मुख्यमंत्री नही जनसेवक माटीपुत्र संघर्ष का दूसरा नाम और विकास का पहला

भिलाई। भूपेश बघेल रातों रात बना हुआ नेता नही संघर्ष की भट्टी में सालों  तपकर निकला सौ टका खरा सोना।जिसने उसका संघर्ष नही देखा उसे भूपेश के दिल मे सालो से छुपे आम आदमी की परेशानी, की कसक नही दिख पायेगी। छत्तीसगढ़ में भैया लोगो का दबदबा और सोने का चम्मच लेकर पैदा होते  रेडीमेड नेताओ की भीड़ थी। राजनीति के शुरुआती दिनों में कालेज में भी वर्ग और क्षेत्र विशेष का दबदबा था।ऐसे में शहरी रेडीमेड नेताओ के बीच एक जुझारू नेता ने अपनी जगह बनानी शुरू की और धीरे धीरे उसने साबित कर दिया राजनीति में खानदानी होना जरूरी नही है। चाहे युवक कांग्रेस का दौर रहा हो या फिर उसके बाद मध्यप्रदेश की विधानसभा पहुंचने का सफर,भूपेश की राह बहुत आसान नही थी।दुर्ग जिले में एक से बढ़कर एक बरगद थे और उनके बीच खुद के दम पर आगे निकलने की सोचना भी कठिन काम था।पर वो भी भूपेश था निकल पड़ा था खुली सड़क पर अपना सीना ताने।

मेहनत और संघर्ष का फल भले देर से मिले मिलता जरूर है और मीठा ही मिलता है।भूपेश ने बात को साबित किया।विधानसभा में अपनी उपस्थिति न केवल दर्ज कराई बल्कि दिग्गी राजा जैसे दिग्गज और पारखी नेता को उन्हें मंत्रिमंडल में जगह देनी पड़ी। उसके बाद भी भूपेश की राह आसान नही थी।खुलकर बोलने और साफ साफ बोलने की आदत प्लस प्वाइंट होने की बजाए माइनस हो गई।फिर मध्यप्रदेश का बंटवारा हुआ और छत्तीसगढ़ अस्तित्व में आया और फिर एक बार जबरदस्त , जबरदस्ती नेताओ की निकल पड़ी।भूपेश मंत्री तो बने मगर अड़ियल और अक्खड़ स्वभाव यंहा भी आड़े आया और सारे पावर सेंटर की आंख की किरकिरी बन गए। तब शायद ही किसी को  पता था कि वे खुद एक नया पावर सेंटर बनने जा रहे है।विधानसभा में आक्रामक तेवर और कागजी नेताओ की बजाए जमीनी नेताओ को महत्व देने की उनकी प्रवृत्ति उनके व्यक्तित्व व नेतृत्व को निखारती चली गई।फिर जब कांग्रेस की कमान हाथ आई तो बाहर से ज्यादा पार्टी के अंदर से चुनौतियां मिलने लगी लेकिन भूपेश ने हार नही मानी।और हार की गारंटी बन चुकी पार्टी को फिर से जिंदा किया और आज रिकार्डतोड़ बहुमत के साथ भूपेश बघेल की सरकार  है।साइंस कॉलेज के साथियों से उनका आज भी वही प्रेम है साइंस कॉलेज के सभी दोस्तों की ओर से मैं उन्हें जन्म दिन की बधाई देता हूँ।उत्तरोत्तर प्रगति की मंगलकामनाओं सहित इन्द्रधनुषी बधाई।।