breaking news New

“पुनर्वास नीति" : राज्योत्सव के दिन 9 नक्सलियो का आत्मसमर्पण

 “पुनर्वास नीति

सुकमा-राज्योत्सव के दिन छत्तीसगढ़ शासन के “पुनर्वास नीति" व जिला पुलिस द्वारा चलाये जा रहे “पूना नौम अभियान" से प्रभावित होकर 09 नक्सलियों द्वारा आत्मसमर्पण। नक्सलियों के अमानवीय एवं आधारहीन विचारधारा को त्यागकर आत्मसमर्पण किया ।

नक्सलियों के शोषण, अत्याचार, भेदभाव एवं स्थानीय आदिवासियों से होने वाली हिंसा से त्रस्त होकर छोड़ा लाल आंतक का साथ। 01 नक्सली पर छ0ग0 शासन द्वारा 01 लाख का ईनाम राशि घोषित।

.पूना नर्कोमअभियान

जिला सुकमा में  सुन्दरराज पी. पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज जगदलपुर (छ.ग.) एवं योज्ञान सिंह, पुलिस उप महानिरीक्षक (परिचालन सुकमा रेंज) के मार्गदर्शन एवं सुनील शर्मा पुलिस अधीक्षक सुकमा (छ.ग.), व  ताशी ज्ञालिक कमांडेन्ट, 02 वाहिनी सीआरपीएफ के निर्देशन में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत भेदभाव करने तथा स्थानीय आदिवासियों पर होने वाले हिंसा से तंग आकर आज दिनांक  राज्योत्सव के दिन प्रतिबंधित नक्सली संगठन से जुड़े विभिन्न थाना क्षेत्र के 09 नक्सलियों द्वारा क्रमशः 01. कलमू हिड़मा पिता गंगा, 02.रवा जोगा पिता रवा सन्ना, 03. हेमला मनीराम पिता लखमू, 04. कमलू मल्ला पिता कोसा, 05. रवा भीमा पिता मासा, 06. रवा पोज्जा पिता गंगा, 07. सोड़ी गंगलु पिता सोमारू, 08. अड्डी दिनेश पिता सुखराम, 09. कलूम जोगा पिता भीमा के द्वारा सभी आत्मसमर्पित नक्सलियों को राज्य शासन के पुनर्वास नीति के तहत सहायता राशि व अन्य सुविधायें प्रदाय किया जायेगा।