breaking news New

सूरजपुर: पति से नहीं मिल रहा था शारीरिक सुख, 20 साल छोटी तीसरी पत्नी ने करवा दी हत्या

सूरजपुर: पति से नहीं मिल रहा था शारीरिक सुख, 20 साल छोटी तीसरी पत्नी ने करवा दी हत्या


सूरजपुर। सूरजपुर के भटगांव में हुए एक अंधे कत्ल का पूरे तीन महीने बाद खुलासा हुआ है। शारीरिक सुख नहीं मिलने के कारण पत्नी ने ही अपने दो साथियों के साथ मिलकर गला दबाकर पति की हत्या कर दी थी। दरअसल, 27 मार्च को एसईसीएल भटगांव में काम करने वाले बाबूलाल का शव बंशीपुर जंगल के पास मिला था। मृतक बाबुलाल तीन दिनों बाद रिटायर भी होने वाला था। एसईसीएल कर्मी बाबूलाल का शव मिलने के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई थी। जांच में मृतक के शरीर में किसी भी तरह के चोट के निशान नहीं मिले थे। पुलिस को शुरू से ही मामला संदिग्ध लग रहा था।

मृतक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी चौंकाने वाला खुलासा हुआ। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या करने की पुष्टी हुई। इसके बाद पुलिस के लिए मामले को सुलझाने एक चुनौती बन गई। इस अंधे कत्ल का पुलिस के पास कोई सुराग भी नहीं था। ऐसे में पुलिस को पूरा शक बाबूलाल की पत्नी पर हुआ। पुलिस ने जब सख्ती से पूछताछ की तो पत्नी ने अपना जुर्म कबूल किया और पूरी वारदात बताई।

पत्नी ने रची थी हत्या की साजिश

आरोपी सागरमति मृतक बाबूलाल की तीसरी पत्नी थी। उम्र में वो बाबूलाल से 20 साल छोटी भी थी। पति से शारीरिक सुख नहीं मिलने के कारण सागरमति ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर हत्या की साजिश बनाई। सागरमति ने बताया कि उसने कई बार हत्या की कोशिश की लेकिन सफलता उसे 27 मार्च को मिली। 27 मार्च को आरोपी सागरमति के इशारे पर पिंटु मिश्रा अपने साथी सीताराम के साथ मृतक बाबूलाल को अपने साथ ताश खेलने के लिए ले गया। सुनसान जगह देखकर बाबूलाल की गला दबाकर हत्या की और लाश जंगल के पास सड़क किनारे छोड़ फरार हो गए। पुलिस के मुताबिक, आरोपी सागरमति चाहती थी कि रिटायरमेंट से बाबूलाल की मौत हो जाए और उसे अनुकंपा नियुक्ति मिल जाए। इस पूरे मामले में थाना प्रभारी किशोर केवट का कहना है कि आरोपी पत्नी और उसके साथी पिंटु मिश्रा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, फरार आरोपी सीताराम की भी जल्द गिरफ्तारी कर ली जाएगी।