breaking news New

पीडीएस का सुचारू से संचालन हो इसके लिए हमाल कोरोना काल में भी कर रहे है काम

पीडीएस का सुचारू से संचालन हो इसके लिए हमाल कोरोना काल में भी कर रहे है काम


जहां लोग घर में रहकर सुरक्षित रह रहे है वही जान की परवाह किये बगैर हमाल कर रहे है कार्य


अब तक नहीं लगा है इन्हें वैक्सीन, क्या ये नहीं है कोरोना वारियर्स ?

नारायणपुर, 22 मई। नारायणपुर जिले में सार्वजनिक वितरण प्रणाली को कोरोना काल मे सुचारू रूप से संचालन हो और लोगो को राशन समय पर मिल सके इसके लिए वेयर हाउस के हमाल अपनी जान की परवाह किये बिना अपने कर्तव्य का पालन करते हुए प्रतिदिन 10 से 15 गाड़ियों में चावल , शक्कर , चना , गुड़ और नमक भरने का कार्य कर रहे है । चाहे गर्मी हो या फिर बारिश ये हमाल अपना कार्य सुचारू रूप से करते आ रहे है । वही कोरोना काल का 2 साल का समय बीतने को है पर इन हमालों को कोरोना बीमारी छू भी नही पाया है । 


 हमालों का कहना है कि हम अपने कार्य को पूरी इमानदारी के साथ करते है इसलिए हमें कोरोना नही होगा । हमारे कार्य का हमे सिर्फ हमारा मेहनताना ही मिलता है सरकार की ओर से कोई भी सुविधा मुहैया नही कराई गई है । यहां तक कि हमे कोरोना का टीका भी नहीं लगा है अगर टीका लगाने लाइन लगाएंगे तो फिर यहां गाड़ी कौन भरेगा , हमारे लिए वेयर हाउस में ही वैक्सीन लगाने की सुविधा मुहैया करानी चाहिए ।

 ज्ञात हो कि नारायणपुर जिले में सार्वजनिक वितरण प्रणाली की 104 शासकीय उचित मूल्य की राशन दुकान संचालित है इन राशन दुकानों में राशन का भंडारण वेयर हाउस से होता है। इस कोरोना काल मे जहा लोग अपनी जान बचाने के लिए घरों में रह रहे है वही वेयर हाउस के हमाल अपनी जान की परवाह किये बिना इन 104 राशन दुकानों में राशन भेजने का कार्य इस भीषण गर्मी में भी करते आ रहे है प्रतिदिन 10 से 15 वाहनों में राशन भरकर हमाल भेज रहे है ताकि आम लोगो को समय पर राशन मुहैया हो सके लेकिन इन हमालों को केवन मेहनताना ही मिलता है । एक ओर शासन कई लोगो को कोरोना वारियर्स मान उनका सम्मान करने के साथ ही वैक्सीन लगाने में प्राथमिकता दे रही है लेकिन इन हमालों को ना ही कोरोना वारियर्स कहा गया और ना ही वैक्सीन के लिए प्राथमिकता दी गई।