breaking news New

सकारात्मक पहल: किरंदुल के व्यवसायी ने अपना होटल खाली करवाकर, आइसोलेशन/क्वारांटाइन हेतु निःशुल्क प्रदान करने इच्छा जताई

सकारात्मक पहल:  किरंदुल के व्यवसायी ने अपना होटल खाली करवाकर,  आइसोलेशन/क्वारांटाइन हेतु निःशुल्क प्रदान करने इच्छा जताई

दंतेवाड़ा़ l किरंदुल में नॉवेल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिए लौह नगरी से अब लोग निकल कर कर रहे है शासन की मदद।

किरंदुल स्तिथ बैला इन  लाज संचालक अब्दुल कय्यूम सिद्दीकी ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए पहले तो अपने लाज खाली करवाया उसके बाद दंतेवाडा में संक्रमण के बढ़ते संदिग्ध मरीजो को देखते हुए लाज को आइसोलेशन/क्वारांटाइन हेतु शासन को निःशुल्क देने के लिए  कलेक्टर को आवेदन दिया है।

समाज सेवक सिद्दीकी ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए लाज देने के अलावा  वार्डवासियों के लिए मास्क भी बनवाया है जिसका वितरण कर रहे है ।

उनकी सभी से अपील है कि इस संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी वर्ग सामने आए व्यापारी ,अधिकारी व नेता भी बढ़कर आगे आएं, ताकि ज्यादा से ज्यादा कोरोना पीड़ितों की सहायता हो सके। उन्होंने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए हम सबको मिलकर आगे बढ़ना है। चाहे वायरस के प्रति लोगों को जागरूक करना हो या पीड़ितों की मदद के लिए आगे आना होना हो। हमें हर दिशा में कोरोना के खिलाफ लड़ना है और इसे देश से भगाना है।


आज सिद्दीकी ने किरंदुल नगर पालिका अधिकार आर नेताम एवं अध्यक्ष मृणाल राय को जिला कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा 

इस ज्ञापन में अब्दुल कय्यूम सिद्दीकी ने लिखा कि वैश्विक महामारी करोना से आज पूरा देश एक होकर लड़ रहा है इसी क्रम में मैं भी इस महामारी से बचाव हेतु अपना योगदान देना चाहता हूं । मैंने निर्णय लिया है कि  किरंदुल स्थित अपने भवन (होटल बैला इन) को  शासन को इसकी आवश्यकता हो तो आइसोलेशन/क्वारंटाइन हेतु देने का इच्छुक हूं । उक्त भवन में 9 कमरे हैं तथा सारे कमरों में बिस्तर एवं रूम के भीतर शौच की व्यवस्था है । 

उपरोक्त आवश्यकता होने पर आदेशित करने की कृपा करें ।

सिद्दीकी के इस पहल की सभी प्रसंसा कर रहे है और अब इस सकारात्मक पहल के बाद और भी लोगो के मदद के लिए आगे आने के कयास लगाए जा रहे है ।

ज्ञात हो कि कोरोना वायरस के संदिग्‍धों की संख्‍या दंतेवाड़ा में भी लगातार बढ़ रही है। बुधवार को बारसूर इलाके में भी दो लोगों को संदिग्‍ध पाते आइसोलेट किया गया। ये दोनों शिक्षा के प्रभावित देश में थे, जहां से बुधवार को बारसूर पहुंचे। हालांकि इनका स्‍क्रीनिंग एयरपोर्ट में हो चुका है। बावजूद स्‍थानीय प्रशासन इन्‍हें 14 दिनों के अपनी निगरानी में लिया है। वर्तमान में इन्‍हें उनके घरों पर ही आइसोलेट किया गया। इधर जिला हॉस्पिटल के आइसोलेशन विभाग में भी मुंबई, चैन्‍नई और आंध्रप्रदेश से लौटे चार लोगों को रखा गया है। बताया जा रहा है कि इन लोगों में कोरोना से मिलते- जुलते लक्षण पाए गए हैं। चारों संदिग्‍धों को विशेष स्‍वास्‍थ्‍य टीम की निगरानी में रखा गया है। एसडीएम लिंगराज सिदार ने बताया कि इन चारों में से दो के सैंपल जांच के लिए एम्‍स भेजा गया है। दो और का सैंपल आज भेजा गया। इसके अलावा जिले में 274 लोगों को होम आइसोलेट में रखा गया है। होम आइसोलेट में रखे सभी की स्थिति अभी स्थिर बताई जा रही है। दुबई से लौटे एक युवक का पूर्व में भेजे गए एक सैंपल का रिजल्‍ट निगेटिव आया है। वह भी होम आइसोलेट में अभी सामान्‍य बताया जा रहा है।