breaking news New

ब्रेकिंग : संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में भारत का तिरंगा लहराएगा, दो साल का कार्यकाल आज से, भारत के स्थायी प्रतिनिधि होंगे टी.एस. तिरूमूर्ति

ब्रेकिंग : संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में भारत का तिरंगा लहराएगा, दो साल का कार्यकाल आज से, भारत के स्थायी प्रतिनिधि होंगे टी.एस. तिरूमूर्ति

नईदिल्ली. भारत का संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में अस्थायी सदस्यता के तौर पर दो साल का कार्यकाल आज से शुरू हो रहा है. परिषद के गलियारे में तिरंगा लगाने का काम किया जाएगा. भारत के झंडे के साथ ही चार अन्य नये अस्थायी सदस्यों के राष्ट्र ध्वज भी पहले आधिकारिक कार्यदिवस पर विशेष समारोह के दौरान नजर आएंगे.

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में सोमवार को भारतीय झंडा लगाया जाएगा. देश संयुक्त राष्ट्र के इस शक्तिशाली निकाय में दो वर्षों के लिए अस्थायी सदस्य के तौर पर अपना कार्यकाल शुरू करने रहा है. पांच नये अस्थायी सदस्य देशों के झंडे चार जनवरी को यानी आज एक विशेष समारोह के दौरान लगाए जाएंगे.

आज से पहला कार्य दिवस : चार जनवरी यानी आज से आधिकारिक रूप से पहला कार्य दिवस है. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टी. एस. तिरूमूर्ति तिरंगा लगाएंगे और उम्मीद है कि समारोह में वह संक्षिप्त संबोधन भी देंगे. भारत के साथ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में नॉर्वे, केन्या, आयरलैंड और मैक्सिको अस्थायी सदस्य बने हैं. वे अस्थायी सदस्यों इस्टोनिया, नाइजर, सेंट विंसेंट और ग्रेनाडा, ट्यूनिशिया, वियतनाम तथा पांच स्थायी सदस्यों चीन, फ्रांस, रूस, ब्रिटेन और अमेरिका के साथ इस परिषद् का हिस्सा होंगे.

झंडा लगाने की परंपरा : आपको बता दें कि भारत अगस्त 2021 में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् का अध्यक्ष होगा और फिर 2022 में एक महीने के लिए परिषद् की अध्यक्षता करेगा. परिषद् का अध्यक्ष हर सदस्य एक महीने के लिए बनता है, जो देशों के अंग्रेजी वर्णमाला के नाम के अनुसार तय किया जाता है. झंडा लगाने की परंपरा की शुरुआत कजाकिस्तान ने 2018 में शुरू की थी. ऐसे में चीन की आक्रामकता से परेशान देशों की नजर भारत पर रहने वाली है।