क्या मरीज के सही होने के बाद भी उसके शरीर में कोरोना वायरस छिपा रहता है?

क्या मरीज के सही होने के बाद भी उसके शरीर में कोरोना वायरस छिपा रहता है?

क्या कोरोना वायरस के मरीज के सही होने के बाद भी उसके शरीर में वायरस छिपा रहता है? दक्षिण कोरिया में 51 लोग कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद दोबारा संक्रमित पाए गए हैं जिसके बाद यह सवाल दुनिया भर में चर्चा का विषय बना हुआ है. बीते सोमवार को दक्षिण कोरिया के सेंटर फॉर डिज़ीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) की ओर से मीडिया को यह जानकारी दी गयी.

कोरियाई सीडीसी के महानिदेशक जियोंग यूं-क्यॉन्ग ने कहा, ‘आईसोलेशन से बाहर आने के कुछ समय बाद ही इन लोगों का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया. इन लोगों के फिर किसी से संक्रमित होने के बजाय, ये भी हो सकता है कि इनमें कोरोना वायरस फिर से सक्रीय हो गया हो.’ जियोंग यूं-क्यॉन्ग के मुताबिक वे इस बात पर व्यापक शोध कर रहे हैं कि वायरस के दोबारा सक्रीय होने की वजह क्या हो सकती है.

इससे पहले भी कई लोग कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद दोबारा संक्रमित पाए जा चुके हैं. बीते महीने जापान के ओसाका में एक महिला कोरोना वायरस से सही होने के कुछ रोज बाद फिर संक्रमित पायी गयी. इसी तरह टोक्यो में एक 70 वर्षीय बुजुर्ग को कुछ समय बाद दूसरी बार संक्रमित पाया गया था.