breaking news New

मुम्बई और चेन्नई में होगी दिलचस्प टक्कर

मुम्बई और चेन्नई में होगी दिलचस्प टक्कर

मुम्बई।  आईपीएल में सबसे ज्यादा खिताब जीतने वाली टीमों लेकिन मौजूदा सत्र में सबसे नीचे चल रही टीमों मुम्बई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच गुरुवार को यहां डीवाई पाटिल स्टेडियम में होने वाले मुकाबले में दिलचस्प भिड़ंत होगी। चेन्नई छह में से मात्र एक जीत दर्ज कर नौंवें और मुम्बई अपने सभी छह मैच हारकर दसवें तथा आखिरी स्थान पर है। इस मुकाबले को जीतने वाली टीम की उम्मीद बनी रहेगी जबकि हारने वाली टीम का सफर और भी मुश्किल हो जाएगा।

पिछले मैच में गुजरात टाइटंस के ख़िलाफ़ 48 गेंद में 73 रनों की पारी खेलकर चेन्नई के ओपनर ऋतुराज गायकवाड़ आख़िरकार फ़ॉर्म में लौट आए हैं। पिछली बार जब 2021 में वह मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ खेले थे तो उन्होंने 58 गेंद में 88 रनों की पारी खेली थी। दूसरी तरफ मुम्बई के सूर्यकुमार यादव ने अब तक इस सीज़न में अपने सभी मैचों में शानदार प्रदर्शन किया है। पहले कुछ मैच नहीं खेलने के बावजूद उन्होंने अभी तक मुंबई के लिए सबसे ज़्यादा रन बनाए हैं, जहां उनके नाम 153.84 के स्ट्राइक रेट से 200 रन हैं। सीएसके के ख़िलाफ़ अपनी पिछली आठ पारियों में उन्होंने चार बार 40 या उससे ज़्यादा रन बनाए हैं।

सीएसके के ओपनर रॉबिन उथप्पा अब तक अच्छी लय में दिखे हैं, उन्होंने छह पारियों में 152.71 के स्ट्राइक रेट से 197 रन बनाए हैं, जो इस सीज़न ओपनरों के सर्वश्रेष्ठ स्ट्राइक रेट में से एक है। पिछली बार जब वह इस मैदान पर खेले थे तो उन्होंने आरसीबी के ख़िलाफ़ 50 गेंद में 88 रनों की पारी खेली थी, जिसमें नौ छक्के शामिल थे।

चेन्नई के मोईन अली अभी तक कुछ ख़ास फ़ॉर्म में नज़र नहीं आए हैं, लेकिन उन्होंने 48(35) और 35(22) रनों की दो अहम पारियां खेली हैं। मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ पिछले तीन मैचों में उन्होंने दो बार 50 या उससे ज़्यादा का स्कोर किया है।

श्रीलंका के मिस्ट्री स्पिनर महीश थीक्षना का अब तक शानदार आईपीएल रहा है, पिछले दो मैचों में उनके आंकड़े 4/33 और 2/24 रहे हैं। इनमें से चार विकेट तो पावरप्ले में आए हैं, जिससे वह इस सीज़न पावरप्ले में सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले स्पिनर बनकर उभरे हैं। पिछले 15 टी20 मैचों में उन्होंने 7.15 की इकॉनमी से 23 विकेट लिए हैं।

तिलक वर्मा ने अपने प्रदर्शन से मुंबई इंडियंस के मध्य क्रम को मज़बूत किया है। उन्होंने छह पारियों में 147.58 के स्ट्राइक रेट से 183 रन बनाए हैं। 183 में से 161 रन मध्य ओवरों में आए हैं, जिससे वह मैच के इस फ़ेज में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ बनकर उभरे हैं।

इन खिलाड़ियों के अलावा मुंबई को अपने कप्तान रोहित शर्मा और कीरोन पोलार्ड से वापसी की काफी उम्मीदें रहेंगी। इन दोनों का बल्ला टूर्नामेंट में अब तक लगभग खामोश रहा है। मुंबई के सबसे महंगे खिलाड़ी ईशान किशन पहले मैच को छोड़कर अगले पांच मैचों में कुछ ख़ास नहीं कर पाए हैं। मुम्बई की गेंदबाजी भी उतनी सशक्त नजर नहीं आती है।

दीपक चाहर के आईपीएल से बाहर हो जाने के बाद चेन्नई का पॉवरप्ले और डैथ ओवरों में आक्रमण कमजोर पड़ जाता है। चेन्नई ज्यादातर अपने शीर्ष क्रम पर बहुत हद तक निर्भर है। अगर टीम बड़ा स्कोर बनाती है तो वह विपक्षी टीम को दबाव में डाल सकती है।

इस मुकाबले का परिणाम दोनों टीमों के समन्वित प्रदर्शन पर ज्यादा निर्भर करेगा लेकिन इसके लिए चेन्नई और मुम्बई दोनों को ही बेहतर खेल का प्रदर्शन करना होगा।