breaking news New

आइएएस रणबीर शर्मा का ट्रेक रिकॉर्ड खराब रहा है..10 हजार की रिश्वत लेने का आरोप भी लग चुका है..आदमखोर भालू को मारने का गैरकानूनी आदेश भी दिया था..और अब जनता से दुरव्यवहार!

आइएएस रणबीर शर्मा का ट्रेक रिकॉर्ड खराब रहा है..10 हजार की रिश्वत लेने का आरोप भी लग चुका है..आदमखोर भालू को मारने का गैरकानूनी आदेश भी दिया था..और अब जनता से दुरव्यवहार!

जनधारा समाचार
रायपुर. लॉकडाउन की आड़ में युवक से मारपीट और बदतमीजी करने वाले सूरपुर के कलेक्टर, आइएएस रणबीर शर्मा की कलेक्टरी छीन ली गई. घटना के 24 घण्टे के अंदर ही सरकार ने उन्हें पद से हटाते हुए मंत्रालय में संयुक्त सचिव बना दिया वो भी बिना किसी विभाग के. उनकी जगह आइएएस गौरव सिंह सूरजपुर के कलेकटर बनाए गए हैं. सिंह इसके पहले रायपुर जिला पंचायत के सीईओ थे.


रणबीर शर्मा खराब ट्रेक रिकॉर्ड वाले आइएएस अधिकारी रहे हैं. कलेक्टर बनने के पहले जब वे भानुप्रतापपुर में एसडीएम थे तब एसीबी ने उनके लिपिक को 10 हजार की रिश्वत लेते पकड़ा था. बाबू ने बयान दिया था कि उसने साहब के कहने पर पैसे लिए हैं. दूसरी ओर प्रशिक्षु आइएएस रहने के दौरान आदमखोर भालू को मारने का गैरकानूनी आदेश जारी करने का गुनाह उनके मत्थे चढ़ चुका है जिसकी खासी आलोचना हुई थी. महीनों पहले जब उन्हें कलेक्टर बनाया गया तब भी कई तरह की चर्चाएं चल रही थीं कि उनकी पोस्टिंग किसने और क्यों कराई!

इसके बावजूद आइएएस रणबीर शर्मा का सरकार के बीच पहुंच और दबदबा बरकरार रहा. एक मंत्री और प्रदेश कांग्रेस के एक बड़े पदाधिकारी से उनकी खासी जमती है लेकिन इस बार मामला सरकार की बदनामी से जुड़ा था इसलिए शर्मा पर कार्रवाई हुई और उनकी कलेक्टरी छीन ली गई. हालांकि आम जनता अभी भी इससे संतुष्ट नही है. उसका मानना है कि बार बार सिर्फ यही कार्रवाई की जाती है. जबकि किसी निर्दोष के सरेराह अपमानित होने का दर्द समझा जा सकता है इसलिए अब कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए ताकि फिर कोई सिविल सेवा का अफसर इतना उचछृंखल ना हो.

दूसरी ओर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ना सिर्फ कलेक्टर का स्थानांतरण करके बड़ा संदेश दिया है बल्कि उन्होंने सहृदयशील होने का परिचय भी दिया. मारपीट और बदतमीजी सहने वाले युवक के परिवार से उन्होंने घटना पर खेद जताया है. श्री बघेल ने कहा कि किसी भी अधिकारी का शासकीय जीवन में इस तरह का आचरण स्वीकार्य नहीं है। इस घटना से क्षुब्ध हूँ। मैं नवयुवक व उनके परिजनों से खेद व्यक्त करता हूँ।

इधर प्रदेश युवक कांग्रेस ने पीड़ित युवक को मोबाइल गिफ्ट करने की घोषणा की है. युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव सुबोध हरितवाल ने ट्वीट कर ये जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि कल सूरजपुर कलेक्टर द्वारा जिस युवक का मोबाइल तोड़ा गया उसे यदि कलेक्टर नया फोन नही देते तो मैं छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस की ओर से एक मोबाइल गिफ्ट करने की घोषणा करता हूं.