breaking news New

जंगल की आग के चलते गरीब का आशियाना राख की ढेर में हुआ तब्दील

जंगल की आग के चलते गरीब का आशियाना राख की ढेर में हुआ तब्दील


घर का सामान, अनाज व वनोपज सहित नगद राशि भी हुई खाक 

अबूझमाड़ के कलमानार का है मामला 

नारायणपुर, 5 अप्रैल। नारायणपुर जिले के अबूझमाड़ के कलमानार ग्राम पंचायत के निवासी सोनसाय पिता कारिया 2 अप्रेल रंगपंचमी के दिन पूरे परिवार के साथ मनाने गांव में अपनी माँ के घर गया हुआ था इस दौरान जंगल में लगी आग की लपटों की चिंगारी हवा में उड़कर उसके कच्चे मकान में गिर गई जिसके चलते सोनसाय का पूरा घर राख की ढेर में तब्दील हो गया । 

जहां एक ओर परिवार रंगपंचमी की खुशियां मना रहा था वही अगले दिन जब पूरा परिवार अपने घर पहुंचा तो राख की ढेर को देख पूरा परिवार गमगीन हो गया। घर का आशियाना मानो पलक झपकते ही गायब हो गया हो ऐसा पूरे परिवार को महसूस होने लगा । घर के साथ घर में रखा सामान , कपड़े , अनाज , उड़द , धान , हिरवा , परबत , कोसरा , महुआ , गंजी बर्तन , नगद 30 हजार भी राख बन गए।

अब सभी के सामने रहने , सोने , पहनने , खाने की दिक्कत सताने लगी। पीडित सोनसाय ने बताया कि रंगपंचमी के दिन पूरा परिवार कलमानार गांव की बस्ती की ओर माँ के घर रंग खेलने गया हुआ था। इस दौरान कैसे पूरा घर जल गया पता ही नहीं चला । रंग पंचमी मनाकर जब अगली सुबह घर पहुंचे तो घर की जगह पे राख का ढ़ेर पड़ा हुआ था । घर के साथ साथ धान 5 ढोलगी , हिरवा 5 बोरी , उड़द 5 बोरी , महुआ 10 बोरा , कोसरा 1 ढोलगी ,परबत 5 बोरा , कपड़ा , बर्तन सहित नगद 30 हजार भी जल गया । अब फिर से घर बनाना और पूरा समान इकठ्ठा करने में बहुत समय लगेगा । मेरे पास खेत के अलावा कुछ नहीं है कि तुरंत में अपना घर बना डालू । किशोर सहारे सचिव ने बताया कि रंगपंचमी के दिन पंचायत के सोनसाय का घर जंगल में लगी आग की चिंगारी के चलते जल गया है जिसके चलते घर में रखा पूरा समान ,अनाज , वनपोज सहित कपड़े बर्तन जल गए है पंचायत से पंचनामा बनाकर तहसील में जमा किया गया है।